​परिवार ने किया इनकार, पुलिस ने करा दी फौजी प्रेमी की शादी

0
9




दोस्तों आज के समय में प्यार को पाने के लिए लड़का लड़की किसी भी हद तक चले जाते है अब चाहे अंजाम कोई भी हो,कई बार प्रेमी युगल एक साथ अपनी जिंदगी को ख़त्म कर प्यार को अमर बनाते है और कई बार दुनिया और घर वालो से लड़ कर ये प्रेमी युगल नई जिंदगी की शुरुआत करते है,ऐसा ही कुछ हुआ है इस घटना से हम आप को अवगत करवाते है.

 

दो सजातीय प्रेमी युगल के प्रेम के बीच जब आर्थिक असमानता व परिवार आड़े आया तो प्रेमिका ने अपने प्यार को हासिल करने के लिए खाकी की चौखट पर दस्तक दी। पुलिस ने प्रेमिका की शिकायत के बाद फौजी प्रेमी को थाने बुलाया और सात साल के प्रेम का वास्ता देकर सहमति के बाद दोनों की शादी करवा दी। पाली थानाध्यक्ष विनोद कुमार गोस्वामी ने बताया कि भगवंतपुर के रहने वाले आलू कारोबारी रमेश सक्सेना के बेटे आकाश का सात साल पहले पड़ोस में रहने वाली युवती रेनू से प्रेम हो गया। इसी दौरान तीन साल पहले ही आकाश सेना में भर्ती हो गया। बेटे के सरकारी नौकरी लग जाने के बाद आलू कारोबारी उसकी शादी बड़े घराने में कराना चाहता था।

वहीं, पिता की मौत के बाद रेनू का परिवार आर्थिक तंगी से जूझ रहा था। इसी आर्थिक असमानता के चलते कारोबारी ने रेनू से आकाश की शादी करने से इंकार कर दिया। यह बात जब रेनू को पता चली तो उसने थाने में एक शिकायती पत्र देकर इंसाफ की गुहार लगाई। पुलिस ने आकाश और उसके परिवार को थाने बुलाया और उनका पक्ष जाना। लेकिन जब परिवार सहमत होता नहीं दिखा तो पुलिस ने आकाश के परिजनों को महिला उत्पीड़न के आरोप में कार्रवाई की चेतावनी दी। इस भय से आकाश के परिजन शादी के लिए राजी हो गये। दोनों परिवारों के सहमति के बाद थानाध्यक्ष श्री गोस्वामी के निगरानी में गांव के ही अमिरता बाबा लक्ष्मणदास आश्रम पर दोनों की शादी सम्पन्न हुई। इस दौरान लड़की पक्ष से अनेक परिजन और उसकी मां शामिल हुई, जबकि आकाश की ओर से सिर्फ उसका भाई शामिल हुआ