पत्नी ऐश्वर्या के खौफ से तेज प्रताप ने बदल दी सीट, अब बचाव के लिए मैदान में उतरेगी साली

0
5

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) को लेकर सभी पार्टियों ने अपनी रणनीति बनाना शुरू कर दी है। राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) पहले महुआ (Mahua Assembly Seat) से चुनाव लड़ने वाले थे, लेकिन अब वे हसनपुर (Hasanpur Assembly Seat) से चुनाव लड़ रहे हैं। उनके इस फैसले के पीछे पत्‍नी ऐश्‍वर्या राय (Aishwarya Rai) का डर बताया जा रहा है। ये भी कहा जा रहा था कि ऐश्‍वर्या राय जनता दल यूनाइटेड (JDU) के टिकट से हसनपुर में भी अपने पति तेज प्रताप को टक्कर देगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

हालांकि सवाल ये भी उठ रहा है कि यदि ऐश्वर्या चुनाव रणनीति में अपने पति तेज प्रताप के खिलाफ हो गई तो क्या होगा? तब आरजेडी तेज प्रताप की साली (Sister-in-law of Tej Pratap Yadav) डॉ. करिश्‍मा राय (Dr. Karishma Rai) को खड़ा कर सकते हैं। उन्होंने पहले से ही आरजेडी की सदस्‍यता ले रखी है।

गौरतलब है कि तेज प्रताप यादव और ऐश्‍वर्या राय की शादी 12 मई 2018 को हुई थी। शादी के 6 महीने के बाद ही तलाक का मुकदमा दायर हो गया था। ऐसे में ऐश्वर्या के पिता और तत्‍कालीन आरजेडी विधायक व अब जेडीयू नेता चंद्रिका राय (Chandrika Rai) के संबंध लालू प्रसाद की फैमिली से खराब होने लगे थे।

नतीजा ये हुआ कि लालू व चंद्रिका अलग हो गए। वहीं इनके बच्चों का तलाक का मुकदमा कोर्ट में लंबित पड़ा है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि ऐश्‍वर्या अपने अपमान का बदला लेने के लिए लालू प्रसाद यादव के परिवार के खिलाफ चुनाव प्रचार कर सकती हैं।

लालू प्रसाद यादव ने इस स्थिति को पहले ही भाप लिया था और यही कारण है कि उन्होंने अभी तक अपनी ओर से कोई पहल नहीं की है। फिलहाल उन्होंने आरजेडी में शामिल तेज प्रताप की साली और ऐश्‍वर्या की चचेरी बहन डॉ. करिश्मा राय चुनाव मैदान में नहीं भेजा है। वैसे तो लालू ने अपने समधी चंद्रिका राय की सीट परसा (Parsa Assembly Seat) से जनशक्ति पार्टी (LJP) के छोटे लाल राय को उम्मीदवार के रूप में खड़ा किया है। लेकिन 2 जुलाई को करिश्मा ने कहा था कि यदि पार्टी चाहती है तो मैं अपने चाचा चंद्रिका राय के विरुद्ध भी चुनाव में खड़ी हो सकती हूं।

पहले चंद्रिका राय ये संकेत दे रहे थे कि ऐश्‍वर्या पति तेज प्रताप के खिलाफ चुनाव लड़ सकती है, लेकिन वर्तमान में वे इसे लेकर पहल नहीं कर रहे हैं। उन्होंने तेज प्रताप के खिलाफ राजकुमार राय को टिकट दी है। लेकिन अभी कुछ भी हो सकता है। चुनाव में तेज प्रताप के विरुद्ध ऐश्वर्या से तलाक का मामला भी उठाया जा सकता है। ऐसा होने पर आरजेडी तेज प्रताप की साली करिश्‍मा को उतार देगी, लेकिन फिर ऐश्‍वर्या भी पीछे नहीं रहेगी।

वैसे तो जेडीयू उम्मीदवारों की लिस्ट में ऐश्वर्या राय का नाम नहीं है, लेकिन तेज प्रताप व तेजस्‍वी के खिलाफ जेडीयू उनका इस्तेमाल कर सकती है। वहीं बीजेपी के मीडिया सह प्रभारी संजय मयूख (Sanjay Mayukh) का मानना है कि चुनाव में तेज प्रताप और तेजस्वी का हारना निश्चित है।