गरीब बच्चों की मदद के लिए ‘कारवाले मास्टर’ फुटपाथ पर लगाते हैं क्लास, फ्री में देते हैं शिक्षा

0
0

कोरोना वायरस के कारण बच्चों की पढ़ाई पर काफी असर पड़ रहा है। खास करके झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले बच्चे सही से पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं। इन बच्चों के पास ना तो लैपटॉप है, ना ही इतने पैसे की ये किसी से ट्यूशन ले सके। ऐसे बच्चों की मदद के लिए उत्तर प्रदेश के मेरठ के एक मास्टर सामने आए हैं। जिन्हें कारवाले मास्टर नाम दिया गया है। दरअसल ये मास्टर गाड़ी में बैठकर बच्चों को पढ़ाते हैं। जिसके चलते बच्चे इन्हें कारवाले मास्टर जी कहते हैं।

नि:शुल्क दे रहे हैं शिक्षा

कारवाले मास्टर रोज अपनी कार से आते हैं और झुग्गी-झोपड़ी के पास पेड़ के नीचे बच्चों की पाठशाला लगाते हैं। काफी सारे बच्चे इनसे पढ़ने के लिए आते हैं। ये मास्टर इन बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देते हैं। इन मास्टर का नाम बीबी शर्मा है। ये मेरठ के रहने वाले हैं और स्टेट बैंक से एजीएम पद से रिटायर हुए हैं।

मन की खुशी के लिए कर रहे हैं ये काम

बीबी शर्मा को बच्चों को पढ़ाना अच्छा लगता है। इसलिए ये झुग्गी झोपड़ी के पास जाकर अपनी क्लास लगाते हैं। ये कई सारी झुग्गी झोपड़ी के बच्चों को शिक्षा देते हैं। बीबी शर्मा के अनुसार वो तन और मन से आखिरी सांस तक बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं। ज्ञान देने से उन्हें शांति मिलती है। वहीं बच्चे भी इनसे पढ़ना पसंद करते हैं।

संस्थाएं भी कर रही हैं मदद

इस नेक कार्य में बीबी शर्मा की मदद ओर भी लोग कर रहे हैं और स्वयं सेवी संस्थाएं भी बच्चों को पढ़ा रही हैं। कई सारी संस्थाएं इन बच्चों को किताबें, पेन-पेंसिल आदि चीजे देती रहती हैं। ताकि ये आरम से पढ़ सकें और अच्छी शिक्षा ग्रहण कर सकें। बच्चों को बीबी शर्मा से पढ़ने में काफी मजा आता है और बच्चे इन्हें कारवाले मास्टर जी कहते हैं।