बाउंड्री से गेंद उठाकर फेंका करता था ये लड़का, अब आईपीएल में मिला मौका, पहले ही मैच में कमाल!

0
0

25 साल के तुषार दायें हाथ के मीडियम पेसर हैं, वो मुंबई की तरफ से अंडर 16 और अंडर 19 खेल चुके हैं, इसके साथ ही इंडिया ए और इंडिया ब्लू की ओर से भी खेल चुके हैं।

New Delhi, Oct 15 : आईपीएल 2020 के 30वें मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स ने राजस्थान को 13 रन से हरा दिया, इस मुकाबले में दिल्ली की टीम ने अपनी टीम में एक बड़ा बदलाव किया है, दिल्ली ने हर्षल पटेल की जगह तुषार देशपांडे को प्लेइंग इलेवन में मौका दिया था, इस के साथ ही देशपांडे ने आईपीएल में अपना डेब्यू किया, उन्हें दिल्ली की टीम ने बेस प्राइस 20 लाख रुपये में अपनी टीम में शामिल किया था।

खास था मैच
अपने डेब्यू पर तुषार ने कहा कि राजस्थान के खिलाफ ये मैच उनके लिये बेहद खास है, क्योंकि वो 6 महीने बाद गेंदबाजी करेंगे, उन्हें ये काफी पसंद है, घरेलू क्रिकेट में अपनी गेंदबाजी से कहर बरपाने वाले तुषार एक समय बल्लेबाज बनना चाहते थे, लेकिन बल्लेबाजों की लंबी कतार देखकर उन्होने गेंदबाजी का फैसला लिया, आईपीएल के पहले सीजन में तुषार मुंबई में बॉल बॉय थे, तब उनकी उम्र 13 साल थी।

गेंदबाज बन गये
क्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई के कल्याण के रहने वाले तुषार देशपांडे एक बार लोकल ट्रेन से शिवाजी पार्क जिमखाना एकेडमी पहुंचे, लंबा सफर की वजह से वो थके हुए थे, वह बल्लेबाजी करना चाहते थे, लेकिन एकेडमी में पहले से ही बल्लेबाजी के लिये लंबी कतार लगी थी, इसलिये वो गेंदबाजों की कतार में खड़े हो गये, यहीं से उनका गेंदबाज बनने का सफर शुरु हो गया।

क्रिकेट करियर
25 साल के तुषार दायें हाथ के मीडियम पेसर हैं, वो मुंबई की तरफ से अंडर 16 और अंडर 19 खेल चुके हैं, इसके साथ ही इंडिया ए और इंडिया ब्लू की ओर से भी खेल चुके हैं। देशपांडे कूच बिहार ट्रॉफी में कमाल का प्रदर्शन करके चर्चा में आये थे, उन्हें उसी सीजन 2016-17 में रणजी में डेब्यू का मौका मिला था, 2018-19 में विजय हजारे ट्रॉफी के पहले क्वार्टर फाइनल में उन्होने 23 रन देकर 5 विकेट हासिल किये थे, 20 फर्स्ट क्लास मैच में उन्होने 50 विकेट हासिल किये हैं, जबकि 20 टी-20 मैचों में 31 विकेट लिये हैं।