भारत और जापान ने मिलकर शुरू किया ऐसा काम, चीन की रातो की नींद उड़ गयी है

0
1

भारत अब सुबह शाम प्रगति के राह पर अग्रसर है और दुनिया के कई बड़े बड़े शक्तिशाली देशो के साथ में अपनी दोस्ती को बढ़ा रहा है ताकि चीजो को और ज्यादा बेहतर किया जा सके और इससे चीन को काफी ज्यादा बुरा लगता है क्योंकि उसका बिजनेस खराब जो होता है. अभी हाल ही की बात ही कर लीजिये. भारत और जापान ने मिलकर के टेक के क्षेत्र में ऐसा काम कर दिया है कि चीन के लिए अब चैन आना ही मुश्किल हो गया है. पूरा मामला क्या है? चलिए हम आपको अच्छे से बताते है.

भारत और जापान ने किया समझौता, 5जी और साइबर सिक्यूरिटी जैसी चीजो में एक साथ आयेंगे
अब तक चीन चाह रहा था कि वो अपनी हुवावे जैसी कम्पनियों की मदद से दुनिया में 5जी का जाल बिछा दे और सारी दुनिया में इन्टरनेट का वर्ल्ड लीडर बन जाए लेकिन ऐसा होने नही दिया गया है. पहले तो अमेरिका ने चीन को अपने देश से बाहर कर दिया, फिर यूरोप भी बहार करने पर ही है और इसी बीच अब भारत और जापान ने भी इस पर संकेत दे दिया है.

अभी हाल ही में भारत और जापान दोनों ही देशो ने कुछ एक समझौते साइन किये है जिसमे भारत और जापान मिलकर के 5जी टेक्नोलॉजी पर काम करेंगे, आईओटी पर एक साथ आयेंगे और अपनी अपनी साइबर सिक्यूरिटी भी मजबूत करेंगे. ऐसा करने का अर्थ है दोनों ही देश चीन से खुदको अलग करने की तैयारी में है और कही न कही जापान की टेक्नोलॉजी और भारत की निर्माण क्षमता दोनों ही मिलकर के एशिया पर एकतरफा राज कर सकते है जो लगभग होने ही जा रहा है. इस समबन्ध में भारत और जापान के विदेश मंत्री ने आपस में बात कर ली है और सिग्नेचर भी हो गये है.

अब इससे चीन को पछाड़ने का एक अच्छा मौका मिला है जो अपने आप में एक कलात्मक कदम माना जा रहा है मगर कब तक ये सब कुछ पूरी तरह से होगा और क्या इसका लाभ बड़े स्केल पर होगा? ये देखने वाली बात होगी.