चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग ने सैनिकों से कहा- भारत से ‘युद्ध की तैयारी करो, हाई अलर्ट पर रहो’

0
111

बीजिंग, शनचन विशेष आर्थिक क्षेत्र की स्थापना की 40वीं वर्षगांठ मनाने की महासभा 14 अक्तूबर को क्वांगतुंग प्रांत के शनचन शहर में आयोजित हुई। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने इस महासभा को संबोधित करते हुए कहा कि चीन अब चीनी राष्ट्र के महान पुनरुत्थान के कुंजीभूत काल से गुजर रहा है। नये युग में विशेष आर्थिक क्षेत्र के निर्माण में नया विकास अवधारणा लागू कर अधिक ऊंचे स्तर पर सुधार और खुलापन बढ़ाया जाना चाहिए। चीन विश्व के विभिन्न देशों का चीनी विशेष आर्थिक क्षेत्र के सुधार, खुलेपन व विकास में अधिक सक्रियता से भाग लेने का स्वागत करता है ताकि एक साथ सलाह-मशविरे, निर्माण और साझा करने वाली नयी स्थिति तैयार की जाए। दिसम्बर सन् 1978 में, चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 11वीं केंद्रीय समिति के तीसरे पूर्णाधिवेशन में सुधार और खुलापन करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया गया। अगस्त 1980 में, शनचन, चूहाई, शानथोउ और श्यामन को विशेष आर्थिक क्षेत्र स्थापित करने की पुष्टि मिली। अप्रैल 1988 में, हाईनान विशेष आर्थिक क्षेत्र की स्थापना की गई। विशेष आर्थिक क्षेत्र चीन में सुधार व खुलेपन और सामाजिक आधुनिकीकरण के निर्माण की महत्वपूर्ण खिड़की बन चुके हैं।

शी चिनफिंग ने अपने भाषण में कहा कि नए युग में विशेष आर्थिक क्षेत्र के निर्माण के लिए दस सिद्धांतों का पालन करना चाहिए। यानी कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के नेतृत्व पर डटा रहे। चीनी विशेषता वाले समाजवादी व्यवस्था का पालन करते हुए इसे और संपूर्ण किया जाए। हिम्मत के साथ प्रयास किया जाए। व्यापक खुलेपन पर कायम रहे। नवाचार पर कायम रहे। सुधार और खुलेपन के फलों का लाभ अधिक लोगों को मिल जाए। कानूनी शासन से विशेष आर्थिक क्षेत्र के विकास की अहम गारंटी दी जाए। आर्थिक सामाजिक व पारिस्थितिक पर्यावरण के व्यापक समन्वय व सतत विकास पर डटे रहे। ‘एक देश दो व्यवस्थाएं’ बुनियादी नीति का ²ढ़ता के साथ पालन कर भीतरी इलाके और हांगकांग व मकाओ के मिश्रित विकास का संवर्धन किया जाए। पूरे देश के विकास के लिए योगदान दिया जाए।

शी चिनफिंग ने जोर देकर कहा कि भविष्य में शनचन विशेष आर्थिक क्षेत्र के विकास को समाजवादी बाजार की प्रणाली के उच्च स्तरीय रूपांतर पर आधारित होना चाहिए। वह बाजारीकरण, कानून शासन तथा अंतर्राष्ट्रीयकरण के अनुकूल कारोबारी माहौल स्थापित करने के क्षेत्रों में रूपांतर कर सकेगा। उन्होंने यह भी कहा कि शनचन शहर को उच्च-स्तरीय खुली आर्थिक प्रणाली के निर्माण में नेतृत्वकारी भूमिका अदा कर सकेगा।

शी चिनफिंग ने अपने भाषण में जोर देते हुए कहा कि जनता के बेहतर जीवन के लिए अभिलाषा चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का लक्ष्य है। विशेष आर्थिक क्षेत्र का सुधार व विकास का प्रारंभिक बिंदु और अंतिम बिंदु इस लक्ष्य पर केंद्रित होना चाहिए।

शी चिनफिंग ने बल देते हुए कहा कि क्वांगतुंग-हांगकांग-मकाओ महा खाड़ी क्षेत्र का निर्माण चीन की महत्वपूर्ण राष्ट्रीय विकास रणनीति है। शनचन महा खाड़ी क्षेत्र के निर्माण के दौरान अहम इंजन है। क्वांगतुंग, हांगकांग और मकाओ तीनों क्षेत्रों में आर्थिक संचालन के नियमों और तंत्रों की जोड़ को आगे बढ़ाया जाए।

अपने भाषण के अंत में शी चिनफिंग ने दोहराया कि चीन पारस्परिक लाभ और समान जीत की खुली रणनीति पर अटल रहेगा।

 

Source : AajTak