AIMIM विधायक अख्तरुल इमान के ‘हिंदुस्तान’ शब्द पर आपत्ति जताने पर तेजस्वी ने दी प्रतिक्रिया,क्या बोले तेजस्वी

0
5

बिहार विधानसभा सभा के पांच दिवसीय शीतकालीन सत्र का आज पहला दिन था. विधानसभा सभा सत्र का पहला विवादों से भरा रहा. सारी विवाद की शुरुआत एआईएमआईएम के अमौर विधायक द्वारा शपथ ग्रहण के दौरान ‘हिंदुस्तान’ शब्द को लेकर आपत्ति जाहिर करने के बाद शुरू हुई. शपथ ग्रहण के दौरान अमौर विधायक अख्तरुल इमान द्वारा ‘हिंदुस्तान’ की जगह भारत शब्द का इस्तेमाल करने के बाद सत्ता पक्ष के नेताओं ने उनपर जमकर निशाना साधा और उन्हें पाकिस्तान जाने की नसीहत दी.

बता दें कि इधर, जब नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव से इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने साफ तौर पर कहा कि उन्होंने(अख्तरुल इमान) जिक्र किया था भारत का. संविधान में भारत लिखा है और हमें लगता है कि किसी को भारत शब्द पर आपत्ति नहीं होनी चाहिए. सच्चाई ये है कि भारत और हिंदुस्तान दोनों ही बेरोजगार है.

 

दरअसल, 17वीं बिहार विधानसभा के सभी नवनिर्वाचित विधायकों को आज सदन के सदस्यता की शपथ दिलाई जा रही थी, इस दौरान जब एआईएमआईएम के विधायक अख्तरुल इमान को शपथ ग्रहण के लिए बुलाया गया तो उन्होंने हिंदुस्तान शब्द पर आपत्ति जताते हुए सदन में थोड़ी देर के लिए अजीबोगरीब स्थिति पैदा कर दी.

बता दें कि अख्तरुल इमान ने उर्दू में शपथ लेने की इच्छा जाहिर की. लेकिन उर्दू में भारत की जगह हिंदुस्तान शब्द के इस्तेमाल पर उन्होंने आपत्ति जताते हुए प्रोटेम स्पीकर से भारत शब्द का इस्तेमाल करने की गुजारिश की.

विधायक अख्तरुल इमान ने कहा कि हिंदी भाषा में भारत के संविधान की शपथ ली जाती है. मैथिली में भी हिन्दुस्तान की जगह भारत शब्द का ही इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन उर्दू में शपथ लेने के लिए जो पत्र मुहैया कराया गया है उसमें भारत की जगह हिंदुस्तान शब्द का इस्तेमाल किया गया है. विधायक ने कहा कि वह भारत के संविधान की शपथ लेना चाहते हैं ना कि हिंदुस्तान की संविधान की.

आपको बता दें कि शपथ ग्रहण के दौरान सदन में अचानक विधायक अख्तरुल इमान की बात सुन शपथ दिला रहे प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी हैरान हो गए और इस बाबत जीतन राम मांझी ने आपत्ति जताते हुए कहा कि यह कोई पहली बार नहीं हो रहा है. ये परंपरा रही है हिंदुस्तान शब्द का इस्तेमाल बहुत पहले से ही होता आ रहा है, लेकिन इसका एआईएमआईएम के विधायक महोदय पर कोई असर नहीं पड़ा और वह अपने बात पर अड़े रहे. इससे बाकी विधायक भी हैरान हो गए.