कोरोना का कहर: योगी सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला, जान लें नया नियम

0
6

देश के कई राज्यों में कोरोना वायरस एक बार फिर तेजी से फैल रहा है। त्योहारों के बीत जाने के बाद कोरोना के नए मामलों में भारी उछाल देखी जा रही है। कोरोना संकट से निपटने के लिए राज्य कई तरह की पाबंदिया लगाना शुरू कर दिए हैं। इसके साथ ही राज्यों की तरफ से नए दिशा-निर्देश भी जारी किए गए हैं।

अब उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कोरोना संकट के मद्देनजर बड़ा फैसला लिया है। दिल्ली से हवाई जहाज, ट्रेन और बस से लखनऊ आने वाले सभी लोगों की कोरोना जांच की जाएगी। रविवार को उत्‍तर प्रदेश के मुख्य सचिव आरके तिवारी ने यह जानकारी दी।

प्रदेश के मुख्य सचिव आरके तिवारी ने बताया कि दिल्ली से हवाई जहाज, ट्रेन और बस से लखनऊ आने वाले सभी लोगों की जांच की जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि शादी-विवाह समारोह में कितने लोगों को शामिल होने की इजाजत दी जाए, हम इस पर विचार कर रहे हैं।

प्रदेश में 24 घंटे के दौरान 35 लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामले एक बार फिर तेजी बढ़ रहे हैं। प्रदेश में 24 घंटे के दौरान 35 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हो गई है। इसके साथ ही 2,588 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने रविवार को जानकारी दी कि बीते 24 घंटों के दौरान राज्य में कोरोना से 35 और लोगों की मौत होने से राज्य में वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 7,559 हो गई है।

UP में 23,806 एक्टिव केस

अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि बीते 24 घंटों में प्रदेश में 2,558 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि की गई, तो वहीं इस समय प्रदेश में उपचार करवा रहे मरीजों की कुल संख्या 23,806 है। इसमें से 10,902 होम आइसोलेशन में हैं, तो 2,356 प्राइवेट अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं।

अपर मुख्य सचिव ने जानकारी दी कि बाकी मरीजों का प्रदेश सरकार की एल-1, एल-2 और एल-3 श्रेणी के अस्पतालों में मुफ्त इलाज किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 4,95,415 कोरोना मरीज ठीक हो गए हैं। इसके कारण प्रदेश में कोरोना मरीजों के ठीक होने की दर 94.04 प्रतिशत है।

उन्होंने बताया कि शनिवार को राज्य में 1,75,128 सैंपल की जांच की गई। अब तक प्रदेश में कुल 1,79,85,811 नमूनों की जांच की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि नवंबर के महीने में प्रदेश जांच किए जा रहे नमूनों में से संक्रमित होने की औसत दर 1.6 फीसदी है।