फरवरी तक 5000 रुपये प्रति दस ग्राम तक सस्ता हो सकता है सोना- एक्सपर्ट

0
3

नई दिल्ली. कोरोना काल में सोने के रेट में तेजी से उतार चढ़ाव देखा जा रहा है। ऐसे में सोना सुरक्षित निवेश का सबसे अच्छा माध्यम बना हुआ था। जोखिम के दौर में सोना निवेश का सबसे अच्छा विकल्प माना जाता है। लेकिन अब कीमतों में गिरावट आ रही है। अमेरिकी डॉलर और कोविड-19 वैक्सीन की खबरों के बीच सोना-चांदी सस्ता हुआ है। जिससे शेयर भी तेजी से चढ़ गए वही गोल्ड ईटीएफ (Gold ETF) में भी निवेशक कुछ खास रुचि नहीं दिखा रहे हैं। अगस्त के बाद से अब तक सोना करीब 6,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक सस्ता हो गया है।

अब कोरोना की प्रभावी वैक्सीन जल्द आने की खबर से सोने के दाम 1000 रुपये प्रति दस ग्राम तक गिर चुके हैं। एक्सपर्ट का कहना है कि सोने की कीमतों में गिरावट जारी रहने का अनुमान है. नए साल तक मौजूदा स्तर से सोना 5000 रुपये प्रति दस ग्राम तक सस्ता हो सकता है।

एसकोर्ट सिक्योरिटी के रिसर्च हेड आसिफ इकबाल मीडिया को बताया कि कोरोना वैक्सीन से जुड़ी अच्छी खबरों के बाद सोने-चांदी की कीमतों में लगातार गिरावट आई है। उनका कहना है कि आगे भी सोने के दामों में गिरावट का रुख दिख सकता है। अगर नए साल तक वैक्सीन लॉन्च हो जाती है तो एमसीएक्स पर सोने की कीमतें 45000 रुपये तक लुढ़क सकती हैं।

शार्ट टर्म में सोने में गिरावट का नजरिया । है उनका कहना है कि अगर कोरोना की वैक्सीन बाजार में आ गई तो सोने के दाम 48000 रुपये के नीचे गिर सकते हैं।