जानें, कौन हैं एमके अलागिरी? तमिलनाडु में कमल खिलाने के लिए अमित शाह को है बस इन पर ही भरोसा

0
7

तमिलनाडु में डीएमके दो फाड़ हो चुकी है, करुणानिधि के दोनों बेटे अब राजनीति के मैदान में आमने सामने हैं । जिनमें से एक अमित शाह के भरोसेमंद माने जा रहे हैं ।

New Delhi, Nov 21: तमिलनाडु में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं, जिसे लेकर राजनीतिक जमीन बनाने की तैयारियां शुरू हो गई हैं । लेकिन यहां राजनीति नए रंग लेती नजर आ रही है । करुणानिधि के बेटे एमके अलागिरी को लेकर खबर आ रही है कि, वो अपनी अलग पार्टी बनाने वाले हैं । खबर है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी आज चेन्‍नई में हैं । यहां शाह की रजनीकांत से मुलाकात होनी है जिसके बाद उनके अलागिरी से मिलने की चर्चा जोरों पर है । बहुत संभावतना जताई जा रही है कि बीजेपी और अलागिरी की पार्टी में गठबंधन हो सकता है। कौन हैं अलागिरी और वो डीएमके को कितनी चोट पहुंचा सकते हैं, आगे जानते हैं ।

अलागिरी, कौन हैं और क्‍या है स्‍टालिन से झगड़ा ?
अलागिरी तमिलनाडु के पूर्व मुख्‍यमंत्री और DMK  सुप्रीमो रहे करुणानिधि की दूसरी पत्‍नी दयालु अम्‍मल के बेटे हैं । अलागिरी, तमिलनाडु में कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं। 2009 में वो मदुरई से लोकसभा चुनाव जीतकर संसद पहुंचे थे । लेकिन करुणानिधि की प्राथमिकता हमेशा से स्‍टालिन ही रहे हैं, जिसकी वजह से अलागिरी की नाराजगी बढ़ती रही। साल 2014 में करुणानिधि ने अलागिरी को पार्टी से बाहर कर दिया गया था । वहीं 2018 में जब करुणानिधि का निधन हुआ, तो अलागिरी ने ये तक कह दिया कि स्‍टालिन के नेतृत्‍व में पार्टी बर्बाद हो जाएगी।