ओबामा की कलम- भारत में लाखो लोग बेघर, लेकिन ठाट-बाट में राजा-महाराजाओ को पीछे छोड़ रहे अमीर

0
2

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपनी नई किताब ‘अ प्रॉमिस्ड लैंड’ में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का ज़िक्र किया और उनकी खूब प्रशंसा भी की है.

बता दें, ओबामा की इस किताब के आने के बाद भारत की राजनीती पर भी इसका बहुत प्रभाव पड़ा है. उन्होंने अपनी इस किताब में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का ज़िक्र करते हुए कहा कि वह मुंबई हमले 26/11 के बाद पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई करने से बच रहे थे.

Social Media

इतना ही नहीं, उन्होंने मनमोहन सिंह के साथ हुई अपनी मुलाकात और उनसे हुई बातचीत करने के साथ भारतीय उद्योगपतियों को लेकर कई सवाल भी उठाएं हैं. ओबामा लिखते हैं कि देश-भर में लाखों लोग गन्दगी में रह रहे हैं. जहां कुछ लोग झुग्गी झोपड़ियों में गुज़ारा कर रहे हैं, वहीं भारतीय उद्योगपति एक ऐसा जीवन जी रहे हैं जिससे राजाओं को भी जलन होने लगे.

Social Media

इतना ही नहीं, उन्होंने इस किताब में अपने के चुनाव प्रचार का भी ज़िक्र किया है. चुनाव अभियान से लेकर पहले कार्यकाल के अंत में पाकिस्तान में अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन को मारने के अभियान तक की अपनी यात्रा का वर्णन किया है.

हालांकि, बराक ओबामा राष्ट्रपति रहने के दौरान जब साल 2015 में भारत आए थे तो उनसे मिलने के लिए देश के बड़े बड़े दिग्गज लाइन में खड़े हो गए थे, जिसमे मुकेश अम्बानी जैसे बड़े बिजनेसमैन से लेकर रतन टाटा तक मौजूद थे.

Social Media

ओबामा की इस किताब के दो भाग हैं, जिनमे से पहला भाग मंगलवार को देश भर में जारी किया गया. इसमें ओबामा ने आधुनिक भारत को एक सफल गाथा माने जाने की बात कही है, जिसने उन्होंने राजनीतिक दलों के बीच कटु मतभेदों विभिन्न सशस्त्र अलगावादी आन्दोलनों और भ्रष्टाचार के घोटालों का भी सम्मान किया है.