बड़े काम का होता है जामुन का बीज, जहरीले पदार्थों को निकालता है शरीर से बाहर

0
0

जामुन एक बड़ा ही स्वादिष्ट फल होता है। इसे इंडियन ब्लैकबेरी के नाम से भी जाना जाता है। जामुन की खासियत है कि इसमें जड़ी-बूटी के समान गुण मौजूद होते हैं। औषधीय गुणों से भरपूर जामुन को यदि खाया जाए, तो गर्मी में लू से यह बचाव करता है। जामुन के इसके अलावा भी और भी बहुत से लाभ हैं। जामुन की यह खासियत है कि इसमें विटामिन ए और विटामिन सी के साथ फाइबर, आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, पोटेशियम और मैग्नीशियम प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं।

न केवल एनीमिया में जामुन राहत देता है, बल्कि गठिया और लीवर की समस्याओं में भी यह बड़ा ही प्रभावकारी साबित होता है। मुंह के छाले में भी यह मददगार होता है। अधिकतर लोग जामुन खाने के बाद उसके बीज को यह समझ कर फेंक देते हैं कि यह तो बेकार है, मगर जामुन के बीज के भी बहुत से फायदे हैं। यहां हम आपको इन्हीं के बारे में बता रहे हैं।

हाई ब्लड प्रेशर वालों के लिए फायदेमंद

जो मरीज हाई ब्लड प्रेशर यानी कि उच्च रक्तचाप या फिर हाइपरटेंशन की बीमारी से पीड़ित होते हैं, उनके लिए जामुन बड़ा ही फायदेमंद होता है। इलाजिक एसिड नामक एक फेनॉल एंटीऑक्सीडेंट की जामुन में मौजूदगी होती है, जिससे कि ब्लड प्रेशर के स्तर में जो उतार-चढ़ाव होता है, उसे रोकने का यह काम करता है। यही नहीं, हाई ब्लड प्रेशर को यह अच्छी तरीके से नियंत्रित भी कर लेता है।

डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभकारी

जामुन का बीज यदि डायबिटीज के मरीज खाते हैं, तो उन्हें यह बहुत फायदा पहुंचाता है। आयुर्वेद में बताया गया है कि जामुन का जो कसैला स्वाद होता है, उससे बार-बार जो पेशाब आने की समस्या होती है, वह धीरे-धीरे कम होती चली जाती है। वर्ष 2017 में एक रिपोर्ट एशियन पेसिफिक जर्नल आफ ट्रॉपिकल बायोमेडिसिन में प्रकाशित हुई थी, जिसमें यह खुलासा किया गया था कि खून में ग्लूकोज के स्तर को घटाने के साथ इंसुलिन के स्तर को नियंत्रित करने के गुण जामुन के बीज में मौजूद होते हैं।

जहरीले पदार्थों को निकालता है शरीर से बाहर

जामुन की एक और बड़ी खासियत है कि खून को यह बहुत ही अच्छी तरीके से साफ कर देता है। शरीर में जितने भी जहरीले पदार्थ मौजूद होते हैं, जामुन के बीज का सेवन करने से ये शरीर से बाहर निकल जाते हैं। इनके बाहर आने से शरीर पूरी तरीके से साफ-सुथरा हो जाता है।

एनीमिया से करता है बचाव

खून की कमी के कारण जो एनीमिया नाम की बीमारी होती है, जामुन के बीज का सेवन यदि नियमित रूप से किया जाए तो शरीर इसकी चपेट में आने से बच जाता है। हर दिन सुबह में खाली पेट एक गिलास पानी में एक चम्मच जामुन के बीज का पाउडर मिलाना है और इसे पी लेना है। इससे जल्द लाभ मिलने लगेगा।

पाचन संबंधी समस्याओं में मददगार

पाचन से जुड़ी यदि किसी भी तरह की परेशानी है तो जामुन का बीज इसे ठीक करने में मदद करता है। जामुन के पाउडर का सेवन यदि नियमित रूप से किया जाए तो इससे न केवल पेट एकदम साफ रहता है, बल्कि कब्ज की शिकायत भी यह नहीं होने देता है। आंत में अल्सर की परेशानी को तो यह दूर करता ही है, साथ में पेचिश और डायरिया जैसी समस्याओं में भी यह राहत पहुंचाता है।

ये भी पढ़ें मानसिक शांति से लेकर अच्छी सेहत तक पीपल के पेड़ की परिक्रमा लगाने से होते हैं ये 5 फायदें