जानिए 19 नवंबर 2020 का पंचांग, आज है छठ पूजा का खरना, मुहूर्त, राहुकाल एवं दिशाशूल

0
4

नई दिल्ली: Panchang 19 November 2020: हर दिन पंचांग आप को जरुर जनाना चाहिए जिससे कई प्रकार के लाभ हो सकते है। हिन्दी पंचाग के अनुसार, आज कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि गुरुवार दिन है। आज 19 नवंबर है। आज छठ पूजा का दूसरा दिन है। आज खरना है। रात्रि में खीर खाकर 36 घंटे का व्रत रखा जाएगा। इसके अलावा आज सौभाग्य पंचमी या लाभ पंचमी है। इस दिन माता लक्ष्मी तथा गणेश जी का पूजन किया जाता है। आज के पंचांग में राहुकाल, शुभ मुहूर्त, दिशाशूल के अलावा सूर्योदय, चंद्रोदय, सूर्यास्त, चंद्रास्त आदि के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

आज का पंचांग
दिन: गुरुवार, कार्तिक मास, शुक्ल पक्ष, पंचमी तिथि।
आज का दिशाशूल: दक्षिण।
आज का राहुकाल: दोपहर 01:30 बजे से 03:00 बजे तक।
आज की पर्व एवं त्योहार: सौभाग्य पंचमी।

विक्रम संवत 2077 शके 1942 दक्षिणायन, दक्षिणगोल, शरद ऋतु कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की पंचमी 22 घंटे तक, तत्पश्चात् षष्ठी पूर्वाआषाढ़ा नक्षत्र 09 घंटे 39 मिनट तक, तत्पश्चात् उत्तराआषाढ़ा नक्षत्र सूल योग 09 घंटे 57 मिनट तक, तत्पश्चात् गण्ड योग धनु में चंद्रमा 15 घंटे 30 मिनट तक तत्पश्चात् मकर में।

सूर्योदय और सूर्यास्त
आज छठ पूजा के दूसरे दिन सूर्योदय प्रात:काल 06 बजकर 47 मिनट पर हुआ है, वहीं सूर्यास्त शाम को 05 बजकर 26 मिनट पर होगा।
चंद्रोदय और चंद्रास्त
आज के दिन चंद्रोदय दिन में 10 बजकर 59 मिनट पर होगा। चंद्र का अस्त रात को 09 बजकर 30 मिनट पर होगा।
आज का शुभ समय
अभिजित मुहूर्त: दिन में 11 बजकर 45 मिनट से दोपहर 12 बजकर 28 मिनट तक।

रवि योग: दिन में 09 बजकर 39 मिनट से दोपहर 02 बजकर 28 मिनट तक।

अमृत काल: 20 नवंबर को तड़के 03 बजकर 03 मिनट से प्रात:काल 04 बजकर 38 मिनट तक।

विजय मुहूर्त: दोपहर 01 बजकर 53 मिनट से दोपहर 02 बजकर 35 मिनट तक।

आज कार्तिक शुक्ल पंचमी है। आज गुरुवार के दिन भगवान विष्णु तथा गुरु बृहस्पति की पूजा करना श्रेष्ठ माना जाता है। इससे कुंडली में गुरु की स्थिति भी बेहतर होती है। आज आप कोई नया कार्य करना चाहते हैं तो शुभ मुहूर्त का ध्यान रखें।