BabaKaDhaba! आगरा वालों आगे बढ़ो…दिल्ली के बाद आगरा के ‘कांजीबड़े वाले बाबा’ का वीडियो वायरल

0
3




सोशल मीडिया पर वायरल हुए दिल्ली के ‘बाबा का ढाबा’ के अब बारी है ‘कांजीबड़े वाले बाबा’ की जिनकी वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो चुकी है और कई लोग इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर कर चुके है इस वीडियो को शेयर करते हुए लोगो ने ये आगरा के कांजीबड़े वाले बाबा की मदद के लिए हम सभी को आगे आने पड़ेगा।

इस वीडियो को इंस्टाग्राम पर धनिष्ठा नामक एक यूजर ने शेयर किया है जो की सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो चुकी है इस वीडियो को शेयर करते हुए धनिष्ठा ने कैप्शन में लिखा है “कांजीबड़े वाले बाबा का स्टॉल इच्छा बेकरी के पास, प्रोफेसर कॉलोनी, कमला नगर में है. आप लोग भी यहां आएं, खाएं और उनकी मदद करें. जितना आप कर सकते हैं. बाबा को हर रोज शाम 5:30 बजे से यहां रेहड़ी लगाते हैं”

 

 

View this post on Instagram

 

My kanji bada wale uncle 😁 He has been selling kanji badas for almost 40 years and as of today, he is 90 years old. Because of this pandemic he gets to earn only ₹250-₹300 in a day. His stall is in professors colony, Kamla nagar, Agra, near desire Bakery. I’ve been here earlier also and I hope you guys also come here, eat and help him as much as you can. You’ll find him here everyday, from 5:30pm. Also, if you know such places in Agra, DM me. I will try to meet and help them all and will tell everyone about them. All of us should help those in need. Start from your own area, your city and then see how it all changes and let’s try to highlight every story we are able to. #vocalforlocal #vocal #old #viral #supportlocal #foodvideo #viralvideos

A post shared by DHANISHTHA (@a_tastetour) on

वायरल वीडियो में नजर आए बुजुर्ग का नाम नारायण सिंह है जो की 90 साल है नारायण जी आगरा स्थित कमला नगर की प्रोफेसर कॉलोनी के रहने वाले हैं और अपना और घर वालो का पेट पालने के लिए वो साल 1980 से कांजीबड़े की रेहड़ी लगाते आ रहे हैं नारायण जी के बेटे बेटे का निधन हो चुका है. वहीं छोटा बेटा पेंटर है।

 

सभी की तरह उनका भी लॉक डाउन में बहुत नुकसान हुआ है लॉकडाउन से पहले वो दिनभर में 500 रुपए तक कमा लेते थे पर अब मुश्किल से 200 से 300 तक कमाई होती है पर घर का खर्च इससे कहीं ज्यादा है वैसे अब देखने वाली बात ये है की क्या लोगो सच में उनकी मदद के लिए आएगी जैसे वो ‘बाबा का ढाबा’ के समय आए थे वैसे अभी के लिए मदद की गुहार सभी लगा रहे है कुछ लोगो ने इसपर ट्वीट भी किया है।