छप्पर फाड़ कर घर में गिरा ‘खजाना’, रातोंरात करोड़पति बन गया शख्स

0
4

सोचिए आपके घर की छत फटे और उसमें से कुछ घर में आ जाए जिसका आपको अंदाजा तक ना हो । कुछ ऐसा ही हुआ इस शख्‍स के साथ ।

New Delhi, Nov 19: यह कहावत तो सभी ने जरूर सुनी होगी, ऊपरवाला जब भी देता है तो छप्पर फाड़कर देता है । लेकिन ऐसा होता बहुत कम लोगों के साथ । लेकिन इंडोनेशिया का एक शख्‍स किस्‍मत वाला निकला और ये कहावत उसके साथ एकदम सच हो गई । ताबूत बनाने वाले 33 साल के जोसुआ हुतागलुंग ने कभी सोचा भी नहीं था कि एक दिन उसके घर खजाना वाकई आसमान से आ गिरेगा और वो करोड़पति बन जाएगा ।

आकाश से गिरा उल्‍कापिंड
जोसुआ के घर पर आकाश से एक बड़ा सा उल्‍कापिंड आ गिरा था । विशेषज्ञों के अनुसार यह करीब साढ़े 4 अरब साल पुराना दुर्लभ उल्‍कापिंड है । जिस समय उल्‍कापिंड गिरा, उस वक्‍त जोसुआ उत्तरी सुमात्रा के कोलांग में अपने घर के बगल में ही काम कर रहे थे । इस उल्कापिंड का वजन करीब 2.1 किलोग्राम बताया गया है । उल्कापिंड के गिरने से जोसुआ के घर की छप्‍पर पर बड़ा छेद हो गया है ।

10 करोड़ रुपए मिले
आप हैरान हो जाएंगे ये जानकर कि इस उल्कापिंड के बदले जोसुआ को करीब 10 करोड़ रुपये मिले हैं । जोसुआ ने जमीन के अंदर गड्ढा खोदकर इस अनमोल उल्‍कापिंड को बाहर निकाला था । यह उल्कापिंड बहुत ही दुर्लभ प्रजाति का माना जा रहा है, इसकी कीमत कम से कम 857 डॉलर प्रति ग्राम है । जोसुआ ने ये भी बताया कि जब उल्कापिंड को जमीन से बाहर निकाला तो वह काफी गर्म था और टूटा हुआ भी था ।

पूरा घर हिल गया
जोसुआ ने बताया कि उल्कापिंड के गिरने की आवाज इतनी तेज थी कि जोसुआ के घर के कई हिस्‍से हिल गए थे । उन्‍होंने बताया –  ‘जब मैंने छत की तरफ देखा तो वह टूटी हुई थी. मुझे पूरा संदेह हो गया कि यह पत्‍थर निश्चित रूप से आसमान से गिरा है, जिसे कई लोग उल्‍कापिंड कहते हैं । ऐसा इसलिए था कि मेरी छत पर किसी का पत्‍थर फेंकना लगभग असंभव है।’ जोसुआ के घर पर हुई इस धमाके की आवाज के बाद स्थानीय लोग वहां जुटने लगे । इस पत्‍थर से जोसुआ को इतना पैसा मिल गया है जो वो अगले 50 सालों में भी नहीं कमा पाता । जोसुआ ने कहा कि वह इस पैसे का इस्‍तेमाल अपने समुदाय के लिए चर्च का निर्माण करेंगे ।