झारखंड के छोटे शहर से आई मीनाक्षी शेषाद्री कैसे बनीं बॉलीवुड की दामिनी ..

0
5

दोस्तों आज हम बात कर रहे हैं बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री मीनाक्षी शेषाद्री की। मीनाक्षी ने अपना 57 वाँ जन्म दिन मनाया है । इनका जन्म 16 नवम्बर सन 1963 में हुआ था। मीनाक्षी शेषाद्री का जन्म झारखंड के सिंदरी में हुआ था। 90 कि दशक की यह मशहूर अभिनेत्री काफी लंबे समय से फ़िल्म जगत और मीडिया की चकाचौंध से बहुत दूर हैं।

आपको बता दें कि मीनाक्षी शेषाद्रि का असली नाम शशिकला शेषाद्री है। मीनाक्षी नाम इन्होंने केवल फिल्मों में काम करने के लिए रखा था। और यह इसी नाम से फ़िल्म इंडस्ट्री में बेहद मशहूर भी हुई। मीनाक्षी सिनेमा जगत की सबसे खूबसूरत और सफल अभिनेत्रियों में गिनी जाती हैं।

केवल अभिनय ही नही मीनाक्षी शेषाद्री अपने डांस में कारण भी बहुत फेमस है और पसंद की जाती है। यह डांस में माहिर हैं। मीनाक्षी भरतनाट्यम ,कुचिपुड़ी कथक और ओडिसी नृत्यों में अच्छी जानकारी है। वे इन चारों प्रकारों के नृत्यों में पारंगत हैं। मीनाक्षी 17 वर्ष की आयु में साल 1981 में ” ईव्स वीकली मिस इंडिया” का खिताब जीत चुकी हैं। इसके बाद मीनाक्षी ने जापान में आयोजित मिस इंटरनेशनल की प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व भी किया था।

मीनाक्षी ने तेलगु और हिंदी दोनो भाषाओं में बनी फिल्म ” पेंटर बाबू” से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी,मगर इस फ़िल्म को सफलता नही मिल सकी थी। तब मीनाक्षी ने यह तय कर लिया था कि ये आगे कभी एक्टिंग नही करेंगी। इस असफलता के बाद निर्देशक सुभाष घई ने अपनी फिल्म हीरो में मीनाक्षी को हीरोइन के तौर पर जगह दी और इनके साथ हीरो जैकी श्रॉफ थे। इनकी यह फ़िल्म सुपर डुपर हिट रही और मीनाक्षी रातों रात लोगों की पहली पसंद बन गईं।

इस सफलता के बाद मीनाक्षी शेषाद्रि ने पीछे मुड़ कर नही देखा, उन्हें उनकी मेहनत से सफलता मिलती ही गई। मीनाक्षी की फ़िल्म दामिनी को इनके करियर का मील का पत्थर थी। इस फ़िल्म के बाद मीनाक्षी को एक अलग ही पहचान मिल गई इन्हें बॉलीवुड की दामिनी कहा जाने लगा।

साल 1995 में मीनाक्षी ने हरीश मैसूर को अपना जीवन साथी बना लिया और उनके साथ ही अमेरिका में ही बस गईं। उनके दो बच्चे भी है। इस अभीनेत्री ने फिल्मों से पूरी तरह पूरी तरह अलगाव कर लिया मगर खुद को अपनी साधाना अपने नृत्य से दूर नही रख पाईं। मीनाक्षी शास्त्रीय और कथक सिखाती हैं। विदेश में रहने वाले भारतीयों के मध्य यह बहुत ही प्रसिद्ध हैं