जुगाड़ टेक्नोलॉजी से बाइक के ज़रिए ट्यूबवेल से निकाला पानी, लागत सिर्फ़ 30 रुपए

0
30

वैसे तो हमारा भारत जुगाड़ टेक्नोलॉजी के लिए जाना जाता है। यहाँ ज्यादातर लोग कोई ना कोई जुगाड़ लगाकर अपने काम को आसान कर लेते हैं। ऐसे ही एक जुगाड़ टेक्नोलॉजी का आविष्कार किया है मध्य प्रदेश के बड़ामलहरा गाँव के रहने वाले बाली मोहम्मद ने। इन्होंने बाइक के माध्यम से ट्यूबवेल से पानी को निकालने का आविष्कार किया है। हमारे भारत के कई शहरों, कई गांवों में बिजली की समस्या एक बहुत बड़ी समस्या है। अगर बिजली ना हो तो हमारी ज्यादातर काम बाधित हो जाता है।

man Water extracted from tubewell by bike from Jugaad Technology

मध्यप्रदेश के एक गाँव बड़ामलहरा के लोग भी काफ़ी दिनों से बिजली की समस्या से जूझ रहे थे। जिसका समाधान आखिरकार उन लोगों ने निकाल लिया। उस गाँव के बाली मोहम्मद नाम के एक व्यक्ति ने अपने बाइक के जरिए ट्यूबवेल से पानी निकालने का काम किया है।

बाली मोहम्मद ने लगाया जुगाड़ टेक्नोलॉजी

बाली मोहम्मद जिनकी चर्चा आजकल सोशल मीडिया पर काफ़ी जोरों शोरों से चल रही है। उनकी बाइक जिनका उपयोग बॉक्सर खेती और सामानों को धोने के लिए किया करते थे। अब उसी बाइक के उपयोग से उन्होंने अपने गाँव के सभी लोगों की समस्या का हल कर दिया है। वह कहते हैं ना कि जब आपके पास समस्या आती है तो उसी के साथ उसका समाधान भी आता है। अभी आप पर निर्भर करता है कि आप उस समस्या का समाधान कितनी जल्दी ढूँढते हैं।

man Water extracted from tubewell by bike from Jugaad Technology

बिजली की समस्या से वहाँ खेती करने में परेशानी होने के कारण बाली मोहम्मद ने अपना दिमाग़ लगाकर ऐसा जुगाड़ निकाला कि जब बिजली ना भी रहे तो भी आप ट्यूबवेल से पानी निकाल सकते हैं।

बाइक के द्वारा ट्यूबवेल से निकाला पानी

इस जुगाड़ को लगाने के लिए सबसे पहले बाली ने अपने बाइक के मैगनेट बॉक्स जो कि इंजन के पास होता है, उसे खोल दिया और वहाँ इन्होंने 2 बोल्ट लगा दिए। इन्होंने कुछ इस प्रकार से थ्रेसर के वोल्ट को लगाया कि अगर इनके बाइक के पहिये घूमे तो साथ ही यह वोल्ट भी घूम सके। दूसरे साइड में बाली ने वोल्ट को डीजल पम्प के रॉड से कस दिया।

man Water extracted from tubewell by bike from Jugaad Technology

इसे निर्माण करने के बाद जब बाली ने अपनी बाइक को स्टार्ट किया तब डीजल पंप ही साथ ही घूमने लगा जिससे पानी ऊपर आ गया और इस तरह यह अपने मिशन में सफल हुए और साथ ही साथ सारे लोगों की समस्या भी हल हो गई।

इसे बनाने में सिर्फ़ 30 रुपए ख़र्च हुए

man Water extracted from tubewell by bike from Jugaad Technology

आपको बता दें तो बाली ने इस से जुगाड़ को हज़ार दो हज़ार में नहीं बल्कि सिर्फ़ और सिर्फ़ 30 रुपए में निर्माण किया है। तो आप सोच सकते हैं कि उन्होंने अपना कितना दिमाग़ लगाया होगा इसके पीछे। इस जुगाड़ टेक्नोलॉजी की सबसे ख़ास बात है कि आप सिर्फ़ 30 रुपये की लागत से 1 घण्टे तक पानी निकाल सकतें हैं और अपने खेतों में सिंचाई कर सकते हैं।