बढ़ते कोरोना मामले के बीच दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर जारी रहेगी आवाजाही, प्रवेश द्वार पर होगी रैंडम सैंपलिंग: डीएम

0
8

नोएडा: दिल्ली से नोएडा आने वाले लोगों की बुधवार से औचक कोविड-19 जांच होगी। राष्ट्रीय राजधानी से सटे उत्तर प्रदेश के नोएडा के प्रशासन ने यह जानकारी दी। आपको बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली से आने वालों की औचक कोविड-19 जांच करने का फैसला जिलाधिकारी सुहास एल वाई की जिले के वरिष्ठ प्रशासनिक और स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ मंगलवार को हुई ऑनलाइन बैठक में लिया गया।

सुहास ने बातचीत में स्पष्ट किया कि नोएडा और दिल्ली के बीच लोगों की आवाजाही पर कोई रोक नहीं होगी। उन्होंने कहा, ‘दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को टीम बनाने का निर्देश दिया, जो डीएनडी (दिल्ली नोएडा फ्लाई वे)और चिल्ला में नोएडा-दिल्ली की सीमा पर तैनात रहेगी और राष्ट्रीय राजधानी से आने वाले लोगों की औचक कोविड-19 जांच करेगी।’

‘आने वाले कुछ दिन बहुत अहम’

जिलाधिकारी ने कहा कि नोएडा में हाल में संक्रमण के बढ़े मामलों की वजह से महामारी से लड़ने की रणनीति को चाकचौबंद किया गया है। सुहास ने कहा, ‘दिल्ली और अन्य स्थानों से लोगों की आवाजाही की वजह से संक्रमण बढ़ा है। इसलिए, ऐसे लोगों की औचक जांच की जाएगी और यहां के सभी संस्थानों को लक्षण वाले लोगों पर नजर रखने, पहचान करने और जरूरी इलाज मुहैया कराने के लिए परामर्श जारी किया गया है।’ उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में त्योहार होने की वजह से दिल्ली और नोएडा में लोगों की आवाजाही बढ़ी है और इसलिए आने वाले कुछ दिन बहुत अहम होंगे। इसके मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग को भी अस्पतालों में पर्याप्त तैयारी रखने का निर्देश दिया गया है। जिलाधिकारी ने बताया कि औचक जांच रैपिड एंटीजन किट से की जाएगी।

फिर नोएडा में बढ़े कोरोना केस

आपको बता दें कि नोएडा में मंगलवार को कोरोना के 141 नए मामले सामने आए हैं। वहीं, 115 मरीज ठीक भी हुए है। इसी के चलते जिले में कोरोना के कुल मामलों की संख्या अब 20,566 हो चुकी है। इनमें 1236 मरीजों का इस समय भी इलाज चल रहा है। बता दें कि जिले में अब तक 73 लोगों की कोरोना की वजह से मौत हुई है। यही नहीं, 19257 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। हालांकि, सोमवार को कोरोना के 100 से कम मरीज आए थे लेकिन मंगलवार को यह संख्या अचानक से बढ़ गई है।