कानपूर मामले ने किए रोंगटे खड़े, मासूम बच्ची का दिल, फेफड़े, किडनी समेत कई अंग निकालकर कूड़े में फेके

0
2

उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए गैंगरेप और मर्डर काड में मेहमानों की हैवानियत हर हद पार थी। घाटमपुर में राक्षसों ने पहले 7 साल की बच्ची को अपनी हैवानियत का शिकार बनाया और उसके बाद उसके शरीर के अंगों को निकाल कर उसे कूड़ेदान में फेंक दिया। यह मामला सुनने के बाद लोगों के दिल दहल गए हैं। वह इस मामले में धारा 376d और पोस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

Social Media

वही इस मामले में गिरफ्तार हुए दंपत्ति ने भी कई चौकाने वाले खुलासे किए हैं। उन्होंने पुलिस पूछताछ में बताया कि मजह 1500 रुपए के लिए अंकुर और वीरेंद्र ने उन्हें मासूम का लीवर लाकर दिया था। इस मामले ने उत्तर प्रदेश पुलिस से लेकर उत्तर प्रदेश सरकार तक के रोंगटे खड़े कर दिए हैं। वहीं घाटमपुर इंस्पेक्टर राजीव सिंह ने बताया कि आरोपियों ने शराब के नशे में मासूम के कपड़े उतार दिए थे। यह रेप की श्रेणी में आता हैं।

मामले की जांच कर रहे घाटमपुर इंस्पेक्टर ने आगे बताया कि हैवान नशे में धुत थे और उन्होंने मासूम का सिर्फ लीवर ही नहीं काटा बल्कि उसके दोनों फेफड़े, दिल, किडनी, स्वालीन, छोटी-बड़ी आंत, खाने की थैली तक काटकर उसे कूड़ेदान में फेंक दिया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी मासूम के सभी अंग गायब मिले तो डॉक्टरों के भी होश उड़ गए।

Social Media

डॉक्टरों ने बताया कि उसके नाजुक अंग में खरोंच के कई निशान भी मिले हैं। वहीं इस मामले पर डॉक्टर आलोक मिश्रा और डा. महेन्द्र कुमार के पैनल ने मासूम बच्ची का पोस्टमार्टम कर रिपोर्ट में दो स्लाइड बनाई गई हैं, जिन्हें जांच के लिए भेजा जाएगा।

पकड़े गए दंपति परशुराम और उसकी पत्नी ने पुलिस को बताया कि 1999 में उसकी शादी हुई मगर बच्चे नहीं हो रहे थे। इसके बाद उसे पता चला कि बच्ची का लिवर खाने से बच्चे हो जाएंगे। ऐसे में उन्होंने आरोपियों के साथ मिलकर पूरी साजिश की योजना बनाई। इसके बाद बीते शनिवार को ही दोनों के साथ बैठकर पहली खूब शराब पिलाई। उसके बाद इस काम के लिए अंकुल को 500 रुपए और वीरेन्द्र को एक हजार रुपए दिए।

Social Media

इसके बाद दोनों बच्ची को बहला कर ले गए और पूरी योजना को अंजाम दिया। इसके लिए पहले उन्होंने गांव में इदरीस की दुकान से बच्ची को नमकीन और बिस्कुट खरीद कर दिए। इसके बाद वह बच्ची को जंगल में ले गए और वहां पर शराब पी और नशे में उससे दुष्कर्म किया। इसके बाद अंग काट कर बच्ची को मौत के घाट उतार दिया।

फिलहाल इस पूरे मामले पर योगी सरकार से लेकर पीएमओ तक ने अपडेट लिया है और आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की है।