इस दिशा में पैर रखकर सोने से आती है गरीबी, बदल दें ये आदत

0
4

नींद लेना हमारे स्वास्थ्य के लिये बहुत ही जरूरी होता है। एक लंबे समय तक काम करने के बाद हमारी बॉडी को आराम कि बहुत जरूरत होती है। जिसके लिए हमे सोना आवश्यक होता है। ये पुरी दुनिया में ऐसा ही होता है सभी लोग काम करने के बाद आराम के लिए सोते है। सोते समय हमे एक ख़ास बात का ध्यान रखना होगा वह बात है कि सोते समय अपने पैर और सर को किस दिशा में रखा जाये। वास्तुशास्त्र के अनुसार किसी भी नकारात्मक और सकारात्मक बात का हमारे जीवन एवम जीवन से जुड़ी घटनाओं में बहुत ज्यादा ही प्रभाव पड़ता है।

दुनिया भर में हर एक व्यक्ति अलग-अलग समय पर और अलग-अलग अपने तरीके से सोना पसंद करते है। हमारे शास्त्रों के अनुसार रात को जब हम सोते है तो उससे जुड़ी कुछ बातें बताई गईं हैं। शास्त्रों के अनुसार सोते समय उत्तर की तरफ सर रखकर और दक्षिण की तरफ अपनी पैर को रख करके नहीं सोना चाहिए। क्योकि हमारे शास्त्रो के अनुसार ऐसा करने पर माता लक्ष्मी नाराज हो जाती है। ऐसा करने से माता लक्ष्मी की कृपा दृष्टि ज्यादा नहीं रहती हैं।

हमारे शास्त्रों के अनुसार दक्षिण दिशा की तरफ सर रख कर सोने से यह शुभ माना जाता है। जब हम दक्षिण दिशा में सर रखकर सोते है तो घर में माता लक्ष्मी खुश होती है। और घर में उनका वास भी होता है और जिसके घर में पढ़ने वाले बच्चे है उनकी स्मरणशक्ति भी बढ़ती है।

हम आपको एक और कारण ये भी बता दे की वातावरण में चुम्बकीय शक्ति भी होती है, जो दक्षिण से उत्तर दिशा की ओर प्रवाहित होती रहती है। जब भी हम दक्षिण दिशा की तरफ़ सिर को रख़ कर सोते हैं तो उस समय यह ऊर्जा हमारे सिर से प्रवेश करती है और यह पैरों के रास्ते से बाहर कि ओर निकल जाती है। ऐसा होने से हमारे शरीर को पॉजिटिव एनर्जी मिलती है। जो कि यह हमारे बॉडी में एक नई तरह कि ऊर्जा को प्रवाह करती है और जिससे हमारे पाचन क्रिया भी काफी तंदरुस्त हो जाती है।