घर की सीढ़िया बनवाते वक्त जरूर रखें इन बातों का ध्यान, वरना बन सकती है बाद में मुसीबत…

0
7




अगर आपके घर की सीढ़िया गलत स्थान में बन गई है, तो उसे आपको तोड़ने की जरुरत नही है. इसके लिए वास्तुशास्त्र में उपाय दिया है. इसके अनुसार किसी वास्तु विशेषज्ञ से पूछकर आप स्टोन पिरामिड को स्थापित कर सकते है, जिससे आपके घर में आने वाली नकारात्मक ऊर्जा रुक जायेगी, वास्तु के अनुसार दक्षिण, पश्चिम या फिर दक्षिण-पश्चिम दिशा को ही सीढ़ियों के निर्माण के लिए सही मानते हैं. इसके अलावा इस बात का ध्यान रखें कि सीढ़ियों को कभी भी उत्तर दिशा में ना बनाएं. इसके साथ ही सीढ़ियों के लिए उत्तर-पूर्व दिशा भी ठीक नहीं है. लेकिन अगर आप सीढ़ियों के निर्माण के लिए उत्तर-पश्चिम दिशा के चुनते है तो इसे सही माना जाता है.

किसी वास्तु सलाहकार के अनुसार आपके घर में सीढ़ियों के ठीक नीचे भी बाथरूम की दिशा सही बैठ रही हो, तब भी इसे ना बनवाएं. कोशिश करें कि वास्तु के अनुसार इसे और कही बनवाएं. वास्तु शास्त्र के अनुसार माना जाता है कि सीढ़ियों के नीचे बाथरूम होने से घर की आर्थिक स्थिति को कमजोर बनानें के साथ-साथ परिवार वालों की सेहत पर भी फर्क पडता है.

वास्तु के अनुसार सीढ़ियों के सही स्थान के अलावा वह किस दिशा की ओर घूमकर ऊपर की ओर जाती हैं, इसका भी ध्यान रखना जरूरी है. इसके अनुसार घर में बना हुआ बेडरूम ग्राऊंड फ्लोर पर ही है तो ऊपर जाने वाली सीढ़ियां घड़ी की दिशा में घूमनी चाहिए.

वास्तु के अनुसार कभी भी सीढ़ियों के नीचे फिश-एक्वेरियम या फिर कोई भी जल से संबंधित चीज न रखें. ऐसा करने से आपके घर से शुभ का रिसाव होता है, जिससे घर के सदस्यों को पैसे कमानें में बहुत सी समस्याओं का सामना करना पडता है.

वास्तु के अनुसार सीढ़ियों के नीचे कभी भी किचन या बाथरुम नही बनवाना चाहिए. इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा आती है, जिससे आपके घर में धन की कमी और धन एकत्र करने में काफी परेशानी आती है ।इसके अलावा कभी भी सीढ़ियों के नीचें की जगह को खाली न रखें. इसे आप किसी भी तरह यूज करें. जैसे कि वहां स्टोर रूम बनवा दें या फिर कोठरी नुमा कमरा बनवा दें.