दिवाली मनाने सैफई पहुंचे अखिलेश ने चाचा शिवपाल को दिया ये गिफ्ट, कभी नाम जुड़ने से हो जाते थे नाराज

0
4

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सीएम अखिलेश यादव दिवाली मनाने के लिए पत्नी डिंपल यादव और बच्चों के साथ इटावा के सैफई में सिविल लाइंस स्थित अपने आवास पहुंचे। इस दौरान, अखिलेश यादव ने कहा कि 2022 में पार्टी सिर्फ छोटे-छोटे दलों से गठबंधन करेगी। किसी बड़ी पार्टी से गठजोड़ नहीं होगा।

अखिलेश ने यह भी कहा कि आगामी विधान सभा चुनाव में प्रसपा (प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया) को भी एडजस्ट करेंगे और अगर सरकार बनी उनके नेता (शिवपाल) को कैबिनेट मंत्री भी बना देंगे। जसवंत नगर से विधान सभा की सीट भी छोड़ देंगे।

बड़ा गठवन्धन नहीं करेगी सपा

अखिलेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस, बसपा से गठबंधन करने की संभावनाओं को सिरे से खारिज कर दिया। अखिलेश यादव ने कहा- सपा और छोटे दलों से मिलकर चुनाव लड़ेेगी। चाचा शिवपाल सिंह की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी से समझौते के बारे में उन्होंने कहा कि वे प्रसपा को जसवंतनगर सीट देने को तैयार हैं।

माना जा रहा है कि 2017 के विधान चुनाव में कांग्रेस फिर 2019 के लोकसभा चुनाव में बसपा से गठबंधन करने के बावजूद सपा के पक्ष में कोई हवा नहीं बनी। ऐसे में अखिलेश ने अब चाचा शिवपाल को साथ लाने का मन बना लिया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे, ये वही अखिलेश यादव हैं जो होली में चाचा भतीजे के नारे लगने से नाराज हो गए थे और कभी सैफई में होली न मनाने की बात कही थी। दिवाली के मौके पर चाचा भतीजे के बीच की खाई पटती नजर आई।

लेकिन अब सपा की सरकार बनेगी तो प्रसपा नेता को कैबिनेट मंत्री भी बना देंगे। गठबंधन में प्रसपा को भी एडजेस्ट करेंगे।

भाजपा ने बेइमानी कर बिहार में महागठबंधन को हराया: अखिलेश

बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजों पर प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा- लोकतंत्र में इतना धोखा किसी के साथ नहीं हुआ होगा, जितना भाजपा ने वहां के लोगों के साथ किया है। अखिलेश ने एनडीए पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि, महागठबंधन को बेईमानी से हराया गया है।

वंही भाजपा पर तीखा हमला बोलते हुए उन्होंने कहा- सरकार कहती थी कि हम किसानों की इतनी मदद करेंगे कि उनकी आय दुगनी हो जाएगी। हम जानना चाहते हैं कि आखिरकार किस किसान की आय दुगुनी हुई। उन्होंने कहा कि छूट और फरेब की राजनीति करने वालों को आगामी चुनाव में जनता सबक सिखाएगी।

2022 में सपा की रणनीति क्या होगी?

स सवाल का जवाब अखिलेश ने कुछ हल्के अंदाज में दिया। कहा कि इसका हम खुलासा नहीं करेंगे तो उन्हें (भाजपा) जानकारी हो जाएगी।

कई बसपा व कांग्रेस नेताओं ने सपा का दामन थामा

सिविल लाइन आवास पर प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बसपा के तीन पूर्व जिला अध्यक्ष लाखन सिंह जाटव, जितेंद्र दोहरे, राघवेंद्र गौतम समेत सैकड़ों लोगों को पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई। अखिलेश ने कहा कि इटावा में जो भी विकास हुआ है, सपा ने कराया है। भाजपा का कोई भी विकास यहां दिखाई नहीं देता है। लायन सफारी और नवीन जेल का भी जिक्र किया।

दीपावली की बधाई व शुभकामनाएं

इस दौरान अखिलेश यादव ने दूर-दराज से पहुंचे कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। दीपावली की बधाई व शुभकामनाएं दी। सपा मुखिया अखिलेश यादव जैसे ही कार्यकर्ताओं के बीच मुलाकात के लिए आए वैसे ही सेल्फी लेने वाले लोगों की होड़ मच गई।