कुशवाहा ने खेला ट्रंप कार्ड, तेजस्वी की ‘बहन’ पर बड़ा दांव, चुनावी मैदान में ठोकेगी ताल

0
3

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले उपेन्द्र कुशवाहा महागठबंधन से अलग हो गये हैं, उन्होने गठबंधन तोड़ने का ऐलान करते हुए तेजस्वी यादव पर करारे हमले किये थे।

New Delhi, Oct 14 : बिहार विधानसभा चुनाव की गहमागहमी के बीच सियासी दांव पेंच का दौर जारी है, इस बार उपेन्द्र कुशवाहा ने एक नई चली चली है, रामाश्रय सिंह कुशवाहा की पत्नी सुनीता सिंह कुशवाहा को चुनाव में टिकट दिया है, कुशवाहा ने कुचायकोट सीट से सुनीता सिंह कुशवाहा को उम्मीदवार बनाया है।

पति की हत्या
आपको बता दे कि पिछले साल 13 जून 2019 तो रामाश्रय सिंह कुशवाहा की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, व्यवसायी रामाश्रय सिंह को अपराधियों ने उनके ही निर्माणाधीन पेट्रोल पंप पर गोली मार कर हत्या कर दी थी, जिसके बाद पत्नी आमरण अनशन पर बैठी थी, लेकिन किसी ने उनकी सुध नहीं ली।

तेजस्वी को राखी बांधती है
सुनीता सिंह कुशवाहा के आमरण अनशन को तुड़वाने के लिये नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव खुद पहुंचे थे, तेजस्वी ने उन्हें बहन बताया था जिसके बाद सुनीता ने उन्हें राखी बांधकर अपने लिये न्याय की मांग की थी। अब सुनीता कुशवाहा को उपेन्द्र कुशवाहा ने अपनी टीम में शामिल कर लिया है, उन्हें विधानसभा चुनाव में टिकट दिया है।

तेजस्वी से अलग कुशवाहा
विधानसभा चुनाव से ठीक पहले उपेन्द्र कुशवाहा महागठबंधन से अलग हो गये हैं, उन्होने गठबंधन तोड़ने का ऐलान करते हुए तेजस्वी यादव पर करारे हमले किये थे, Tejashwi kushwaha उन्होने उनकी नेतृत्व क्षमता पर सवाल खड़े किये थे, उन्होने कहा था कि नीतीश से लड़ने के लिये महागठबंधन को नेतृत्व बदलने पर विचार करना चाहिये।