संबित पात्रा ने जिसे बताया ‘गुप्‍तचर अलायंस’, उस गुपकार अलायंस को लेकर आखिर क्‍या है झगड़ा?

0
6

जम्‍मू कश्‍मीर के श्रीनगर में एक गुपकार रोड ,जहां नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला का आवास है । यहीं हुई एक बैठक के बाद पारित प्रस्ताव को गुपकार घोषणा का नाम दिया गया है ।

New Delhi, No 18: जम्मू कश्मीर में स्थानीय निकाय के चुनाव होने है, लेकिन इससे पहले ही यहां बने गुपकार अलायंस को लेकर राजनीति तेज हो गई है । इस गुपकार अलायंस में नेशनल कॉन्फ्रेंस समेत पीडीपी, पीपल्स कॉन्फेंस, सीपीआई (एम), पीपल्स यूनाइटेड फ्रंट, पैंथर्स पार्टी और आवामी नैशनल कॉन्फ्रेंस शामिल है । खास बात ये कि इन सभी राजनीतिक दलों ने जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 और आर्टिकल 35ए की वापसी की लड़ाई साथ लड़ने का संकल्प लिया है । ये सभी दल एक साथ मिलकर जम्मू-कश्मीर में स्थानीय निकाय लड़ रहे हैं ।

क्‍या है पूरा मामला?
बीजेपी इस अलायंस को गुप्‍तचर अलायंस का नाम दे रही है, संबित पात्रा समेत कई दूसरे बीजेपी नेताओं ने इस बैठक के बाद प्रेस कॉन्‍फ्रेंस की और इसे देश विरोधी बताया । खुद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुपकर घोषणापत्र गठबंधन (पीएजीडी) को “नापाक वैश्विक गठजोड़” करार दिया, उन्‍होंने कहा कि इस गठबंधन का मकसद कांग्रेस के साथ आतंक और अशांति के दौर की वापसी चाहता है ।शाह ने कहा – “कांग्रेस और गुपगर गैंग amit shah 2जम्मू कश्मीर को आतंक और अशांति के युग में वापस ले जाना चाहते हैं. अनुच्छेद 370 को हटाकर हमने वहां के दलितों, महिलाओं और आदिवासियों को जो अधिकार प्रदान किए हैं उसे वे वापस लेना चाहते हैं. यही कारण है कि उन्हें देश की जनता हर जगह से खारिज कर रही है.”