बजट में पेंशन प्लान पर मिल सकती है खुशखबरी, जानिए किसको होगा फायदा

0
2

National Pension System: पेंशन प्लान नेशनल पेंशन सिस्टम पर अगले बजट तक निवेशकों को बड़ी खुशखबरी मिल सकती है. एनपीएस में इम्प्लॉयर का फीसदी योगदान अगले बजट में टैक्स फ्री  किया जा सकता है. पेंशन फंड रेगुलेटर PFRDA के चेयरमैन सुप्रतिम बंद्योपाध्याय ने इसके लिए सरकार से सिफारिश की है. इसका फायदा सभी कटेगरी के सब्सक्राइबर्स को मिल सकता है.

NPS योगदान पूरी तरह टैक्स फ्री!

आपको बता दें PFRDA चेयरमैन के अनुसार एनपीएस के तहत सेंट्रल गवर्नमेंट के कर्मचारियों के लिए इम्प्लॉयर का 14 फीसदी योगदान 1 अप्रैल 2019 को टैक्स फ्री कर दिया गया था. इसलिए PFRDA ने सरकार से अपील की है कि अब ये सभी कटेगरी के सब्सक्राइबर्स के लिए टैक्स फ्री कर दिया जाए. इसे अब राज्य सरकार या कॉर्पोरेट कंपनियों के लिए भी लागू किया जाए ताकि इसका फायदा सभी को मिल सके. PFRDA चेयरमैन ने बताया कि कुछ राज्यों ने इस बारे में अथॉरिटी को चिट्ठी भी लिखी है.

2 तरह के होते हैं अकाउंट

NPS में दो तरह के अकाउंट होते हैं. पहला टियर-I और दूसरा टियर-II. टियर-I एक रिटायरमेंट अकाउंट होता है, जिसे हर सरकारी कर्मचारी के लिए खुलवाना अनिवार्य है. वहीं टियर-II एक वॉलेंटरी अकाउंट होता है, जिसमें कोई भी वेतनभोगी अपनी तरफ से निवेश शुरू कर सकता है और कभी भी पैसे निकाल सकता है. बता दें कि NPS में निवेश के लिए न्यूनतम आयु सीमा 18 साल है. जबकि अधितकम उम्र 60 साल है.

टियर -2 एनपीएस खाता है जिसे हाल ही में केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए विशेष रूप से कर मुक्त किया गया था. इसलिए वहां भी, हम सरकार से अनुरोध करेंगे कि वह सभी ग्राहकों को सुविधा दे. उन्होंने कहा, टैक्स फ्री कैटेगरी II खाते में हम 3 साल की लॉक-इन अवधि रख रहे हैं क्योंकि आपको टैक्स फ्री का लाभ मिल रहा है और हम चाहते हैं कि इसे अन्य सभी कर्मचारियों के लिए बढ़ा दिया जाए.

किन कर्मचारियों को होगा फायदा

बता दें अगर PFRDA की सिफारिश सरकार मानती है तो हर एनपीएस सब्सक्राइबर को इसका फायदा मिलेगा. चाहे वह केंद्र या राज्य सरकार का कर्मचारी हो या निजी कर्मचारी. PFRDA चेयरमैन ने बताया कि ‘टियर-2 NPS खातों को हाल में खास तौर पर केंद्रीय कर्मचारियों के लिए टैक्स फ्री किया गया था. अब हम सरकार से अपील कर रहे हैं कि ये सभी कैटैगरी के लिए कर दिया जाए. टैक्स फ्री टियर -2 खातों में लॉक इन पीरियड 3 साल का होता है, क्योंकि इसमें आपको टैक्स फ्री स्टेटस मिल रहा है. हम चाहते हैं कि इसको सभी के लिए कर दिया जाए.