मां लक्ष्‍मी को लगाएं इन वस्तुओं भोग, भर जाएंगे खाली धन के भंडार!

0
3

नई दिल्ली: आज 14 नबंवर को देश भर में दीपावली को लेकर उत्साह देखा जा रहा है। सबसे खास बात यह है कि इस दीवाली पर बेहद खास संयोग लेकर आया है। इस बार दीपावली सर्वार्थ सिद्धि योग में मनाई जा रही है। हालांकि जानका मानते है कि शनिवार को दीपावली का होना बहुत शुभ नहीं होता, लेकिन इस बार की दीपावली में लक्ष्‍मी पूजा के वक्‍त स्‍वाति नक्षत्र लगा होगा, इसलिए इस संयोग को बेहद शुभ माना जा रहा है। इसलिए मां लक्ष्‍मी भक्‍तों पर प्रसन्‍न होकर उन्‍हें अपना आशीर्वाद देंगी और सबकी खाली झोलियां भर देंगी। इस अवसर पर हम आपको बता रहे हैं भोग और प्रसाद की वे वस्‍तुएं जो मां लक्ष्‍मी को विशेष रूप से प्रिय हैं।ऐसे में आप भी इनका भोग लगा सकता है।

मखाने के माना जाता है भाई- पौराणिक मान्‍यताओं में मखाने को मां लक्ष्‍मी का भाई माना गया है। दरअसल मखाने की उत्‍पत्ति भी जल से ही मानी गई है। वहीं मां लक्ष्‍मी की उत्‍पत्ति भी क्षीर सागर से मानी जाती है। साथ ही यह मां लक्ष्‍मी के आसन माने जाने वाले कमल के पौधे से मिलता है। इसलिए मां लक्ष्‍मी की पूजा में मखाने को जरूर शामिल किया जाता है। उत्‍पत्ति समान होने के कारण इसे मां लक्ष्‍मी का भाई माना जाता है।

मां लक्ष्‍मी को प्रिय है बताशे – मां लक्ष्‍मी को भोग में सफेद वस्‍तुएं प्रिय मानी जाती हैं। इन्‍हीं में से एक बताशे भी होते हैं। माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए आप भोग में बताशा का भी प्रयोग कर सकते हैं। रात्रि जागरण में आप बताशे का भोग लगाकर हर किसी को दे सकते हैं। बताशे का संबंध भी चंद्रमा से है, इसलिए दिवाली के दिन बताशे और चीनी के खिलौने माता लक्ष्मी को अर्पित किए जाते हैं।

जल का यह फल भी मां लक्ष्‍मी को प्रिय है- माता लक्ष्‍मी को सिंघारा भी बेहद प्रिय हैं। सिंघारा भी जल फल होने के कारण मां लक्ष्‍मी से यह समानता रखता है। मौसमी फल होने की वजह से यह बाजार में आसानी से मिल जाएगा और इसका आप भोग लगा सकते हैं।

श्रीफल भी मां को प्रिय-लक्ष्‍मी माता को प्रिय होने के कारण नारियल को श्रीफल कहा जाता है। नारियल कई परत में होने के कारण इसे अत्‍यंत शुद्ध और पवित्र माना जाता है। इसलिए मां लक्ष्‍मी से जुड़ी प्रत्‍येक पूजा में श्रीफल का भोग लगाना अनिवार्य होता है।

फलों में यह है मां का प्रिय- फलों में मां लक्ष्‍मी को अनार बेहद प्रिय है। दीपावली की पूजन सामग्री में आप अनार जरूर शामिल करें और भोग लगाएं। इसके साथ ही आप फलों में केला और सेब भी चढ़ा सकते हैं।