अर्णब गोस्वामी ने उद्धव ठाकरे को ललकारते हुए पूछा, मुझसे लड़ने में करोड़ों खर्च कर दिये, क्या मिला?

0
5

अर्णब ने कहा कि जिन लोगों ने मुझ पर फर्जी केस बनाये, उन लोगों ने सोचा था कि मुझे कुचल देंगे, जो लोग मेरे हौसले पर सत्ता का बुलडोजर चलाना चाहते थे, उनसे मैं कहना चाहता हूं कि आपके हमले से मैं मजबूत बनकर उभरा हूं।

New Delhi, Nov 13 : रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्णब गोस्वामी ने सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलने के बाद एंकरिंग में वापसी की है, अपने पहले ही शो में उन्होने उद्धव ठाकरे सरकार पर जमकर हमला बोला, अर्णब ने कहा कि जिन लोगों ने मुझ पर फर्जी केस बनाये, उन लोगों ने सोचा था कि मुझे कुचल देंगे, जो लोग मेरे हौसले पर सत्ता का बुलडोजर चलाना चाहते थे, उनसे मैं कहना चाहता हूं कि आपके हमले से मैं मजबूत बनकर उभरा हूं, अर्णब ने कहा कि जो सच की लड़ाई में हार गये हैं उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिये, आपको मुझसे लड़कर निराशा ही हाथ लगी, 130 करोड़ जनता के सामने आप हार गये, मुझसे लड़ने में आपने करोड़ों रुपये फूंक दिये।

सरकार पर हमला
अर्णब इतने में ही नहीं रुके, उन्होने हमले तेज करते हुए कहा कि आपके ऑफिस के लोग कहते हैं कि आपका एक ही एजेंडा है इन दिनों, वो है रिपब्लिक टीवी, सिर्फ अर्णब गोस्वामी के बारे में बात करते रहते हैं, ये केस डालो, वो केस डालो, ये खोलो, वो बंद करो, लोग कहते हैं कि आप बहुत गुस्से में हैं, क्योंकि मैंने आपका नाम लिया, मैं साफ कह रहा हूं कि आप मुख्यमंत्री के तौर पर पूरी तरह से नाकाम हैं, आपके आसपास 5 लोगों के अलावा सभी ऐसा सोचते हैं, लेकिन ये खुलकर नहीं कह सकते, मैं खुलकर कह रहा हूं।

ठाकरे को चुनौती
अर्णब गोस्वामी ने चुनौती देते हुए कहा कि साजिश करने वाले ना तो कभी रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क को छू पाये हैं और ना ही छू पाएंगे, arnab goswami उद्धव जी अगर आपके भीतर हिम्मत है, तो आंख में आंख मिलाकर बात कीजिए, चलिये बहस करते हैं, वन टू वन डिबेट करते हैं, देखते हैं कौन जीतता है ये डिबेट, लाइव चलाऊंगा।

सुसाइड केस में गिरफ्तार
मालूम हो कि अर्णब गोस्वामी इसी महीने की शुरुआत में इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक सुसाइड केस में गिरफ्तार हुए थे, arnab1 अर्णब समेत दो लोगों पर आरोप है कि उन्होने अन्वय का बकाया नहीं चुकाया, जिसकी वजह से उन्होने साल 2018 में सुसाइड किया था, हालांकि द प्रिंट वेबसाइट की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि अर्णब और दो अन्य आरोपियों के बकाये का केस आने से पहले ही नाइक की कंपनी कॉन्कॉर्ड बड़े नुकसान से जूझ रही थी, 2016 तक उस पर 20 करोड़ रुपये का कर्ज हो गया था, टैक्स अधिकारियों से भी कई विवाद पैदा हो गये थे, प्रिंट ने मामले में नाइक के घर वालों से भी बात करने की कोशिश की, लेकिन उन्होने प्रतिक्रिया नहीं दी।