जेल में बंद मरयम नवाज के बाथरूम में लगे थे CCTV कैमरे, इमरान सरकार पर शर्मनाक आरोप

0
4

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरयम नवाज ने इमरान सरकार पर गंभीर आरोप लगाया है । उन्‍होंने पाकिस्‍तान में महिलाओं की सुरक्षा को खतरे में बताया ।

New Delhi, Nov 13: पाकिस्‍तान में एक बार फिर इमरान सरकार पर गंभीर आरोप लगे हैं । इमरान पर ये आरोप मुस्लिम लीग-नवाज की उपाध्यक्ष मरयम नवाज ने लगाए हैं । मरयम के मुताबिक जेल की जिस सेल में उन्हें रखा गया था वहां खुफिया कैमरे लगाए गए थे । इतना ही नहीं उनके वॉशरूम में भी कैमरे लगाए गए थे। एक इंटरव्‍यू में मरयम ने उन असुविधाओं के बारे में बात की, जो पिछले साल उन्‍हें जेल में झेलनी पड़ी । मरयम, चौधरी शुगर मिल्स मामले में गिरफ्तार की गईं थीं ।

मरयम के आरोप
मरयम नवाज ने इमरान सरकार पर निशाना साधते हुए कहा – ‘मैं दो बार जेल जा चुकी हूं। अगर मैं हिरासत में रहने के दौरान अपने और अन्य महिला कैदियों के साथ होने वाले सुलूक के बारे में विस्तार से बताती हूं, तो उन्हें अपना चेहरा छुपाने के लिए जगह नहीं मिलेगी।’ उन्होंने आगे कहा-  अगर अधिकारी एक कमरे में घुसकर उनके पिता नवाज शरीफ के सामने उन्हें गिरफ्तार कर सकते हैं और उन पर निजी हमले कर सकते हैं, तो पाकिस्तान में कोई महिला सुरक्षित नहीं है।

इमरान सरकार को हटाने की मांग
जियो न्यूज के अनुसार मरयम ने कहा है कि उनकी पार्टी संविधान के दायरे में सेना के साथ बातचीत करने के लिए तैयार है, बशर्ते कि सत्ता में मौजूद इमरान सरकार को हटाया जाए। उन्होंने आगे कहा कि वह सरकारी संस्थानों के खिलाफ नहीं हैं और इस बात पर जोर दिया कि बातचीत गुपचुप तरीके से नहीं होगी। उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM) के मंच के माध्यम से बातचीत हो सकती है।

पिछले साल हुई थी गिरफ्तारी
आपको बता दें पीएमएल-एन नेता को पिछले साल मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया था । तब भी उन्होंने कहा था कि नेशनल एकाउंटेबिलिटी(NAB) ने कानून का उल्लंघन करके उन्हें गिरफ्तार किया है, उन्हें राजनीतिक रूप से प्रताड़ित किया जा है। आपको बता दें, इमरान सरकार में प्रधानमंत्री के विशेष सहायक शहजाद अकबर ने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा था कि शरीफ परिवार ने मनी-लॉन्ड्रिंग और शेयर्स के अवैध हस्तांतरण के लिए चौधरी चीनी मिलों का इस्तेमाल किया। मिल के शेयर्स के जरिए 2008 में मरयम नवाज को 7 मिलियन से अधिक शेयर ट्रांसफर किए गए थे, जिन्हें 2010 में यूसुफ अब्बास शरीफ को ट्रांसफर कर दिया गया था।