धनतेरस के द‍िन झाड़ू खरीदने से पहले जरूर जान लें ये जरुरी बातें, नहीं जाननें पर हो सकता है नुकसान!

0
10

नई दिल्ली: Dhanteras 2020: धनतेरस के दिन लोग विभिन्न प्रकार वस्तुओं की खरीदारी करते है। धनतेरस पर सोना, चांदी, बर्तन (Gold, Silver, Pot) के साथ ही सबसे जरूरी होता है झाड़ू खरीदना (Broom)। इस द‍िन आप कोई दूसरी चीज न भी खरीदें लेक‍िन झाड़ू जरूर खरीदनी चाह‍िए क्योंकि झाड़ू को लक्ष्मी स्वरूप माना जाता है। कहते हैं क‍ि अगर धनतेरस पर नई झाड़ू खरीदकर उससे घर की सफाई की जाए तो घर में देवी लक्ष्मी का आगमन होता है। लेक‍िन इसका मतलब यह नहीं है क‍ि आप कैसी भी झाड़ू खरीद लाएं। धनतेरस के द‍िन खरीदी गई झाड़ू का व‍िशेष महत्‍व होता है। लेक‍िन झाड़ू खरीदने से पहले कुछ बातों को जानना बेहद जरूरी है। अन्‍यथा आपकी छोटी सी गलती भी आपको बर्बाद कर सकती है। वास्‍तु एक्‍सपर्ट बताते है कि जिससे कई प्रकार से नुकसान हो सकता है

जानिए किस तरह से खरीदें झाड़ू?

यूं तो धनतेरस के दिन बाजारों में कई तरह की झाड़ू मिलती है। लेकिन इस दिन सीकों वाली झाड़ू और फूलवाली झाड़ू का अधिक महत्व है। लेक‍िन इन्‍हें खरीदते वक्‍त ध्‍यान रखें क‍ि झाड़ू हमेशा घनी होनी चाह‍िए। मान्‍यता है क‍ि झाड़ू जितनी घनी होगी। उसका सकारात्मक प्रभाव उतना ही अधिक पडे़गा। ध्‍यान रखें क‍ि इस दिन हल्की झाड़ू बिल्कुल भी न खरीदें। वहीं अगर आप धनतेरस के दिन सीकों वाली झाड़ू खरीदते हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि उसकी सीकें टूटी हुई न हों। क्‍योंक‍ि ऐसी झाड़ू को खंडित माना जाता है।

पुरानी झाड़ू हो तो धनतेरस पर करें ये काम
अगर आपके घर में पुरानी झाड़ू पड़ी हो तो धनतेरस के द‍िन उसे तुरंत बाहर कर दें। ध्‍यान रखें झाडू को ऐसी जगह पर फेंके जहां किसी के पैर उस पर न लग पाएं। और नई झाड़ू को धनतेरस के दिन ही घर के अंदर लाएं। वहीं धनतेरस के अलावा अगर आप किसी अन्य दिन झाड़ू खरीद रहे हैं तो मंगलवार, शनिवार और अमावस्या तिथि के दिन ही झाड़ू खरीदें। मान्‍यता है क‍ि शनिवार या अमावस्या के दिन नई झाड़ू का इस्तेमाल करने से घर पूरी तरह से दोष मुक्त हो जाता है और सुख-समृद्धि बढ़ती है और वहीं अगर पुरानी झाड़ू को बाहर करना हो तो रविवार के दिन बाहर कर सकते हैं।

धनतेरस के दिन खरीदी गई झाड़ू की पूजा जरूर करनी चाह‍िए। इस दिन झाड़ू की पूजा करने का विधान है क्योंकि झाड़ू को माता लक्ष्मी का रूप माना जाता है। इसके अलावा जब तक आप धनतेरस के दिन झाड़ू की पूजा न कर लें तब तक उसे ऐसी जगह पर रखें। जहां उसपर किसी की भी नजर उस झाड़ू पर न पड़े।