नवरात्रि के नौ दिनों में सुहागिन महिलाओं को गलती से भी नहीं करने चाहिए ये काम

0
8101

हर साल की तरह इस बार भी नवरात्र का सीजन चल रहा है वहीं आपको ये भी बता दें हिंदुधर्म में ये समय बेहद ही खास माना जाता है इतना ही नहीं इसके अलावा आपको ये भी बता दें कि भक्‍तों को इस दिन का बेसब्री से इंतजार रहता है। माना जाता है नवरात्र के इन 9 दिनों में भक्‍त माता को प्रसन्‍न कर सकते हैं और मां प्रसन्‍न होकर उनकी हर इच्‍छा पूरी करती है। वहीं आपको ये भी बता दें कि इन 9दिनो में माता के 9 रूपों की पूजा की जाती है।

इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। नवरात्रि वर्ष में चार बार आता है। पौष, चैत्र,आषाढ,अश्विन प्रतिपदा से नवमी तक मनाया जाता है। नवरात्रि के नौ रातों में तीन देवियों – महालक्ष्मी, महासरस्वती या सरस्वती और दुर्गा के नौ स्वरुपों की पूजा होती है जिन्हें नवदुर्गा कहते हैं।

बताया तो ये भी जाता है कि मां महागौरी ने भगवान शिव को पति के रूप में पाने के लिए जिस तरह से कठिन तपस्या की थी ठीक वैसे ही जो महिलाएं नवरात्रि के नौ दिनों में माँ गौरी की पूजा करती है माँ उसे विशेष वरदान देती हैं लेकिन वहीं ये बात भी सच है कि जाने अनजाने में कई बार कुछ ऐसी गलतियां हो जाती हैं जिनसे बचना चाहिये। तो आइये जानते हैं नवरात्र के दिनों में महिलाओं को क्‍या क्‍या सावधानियां रखनी चाहिये।

सबसे पहले तो आपको ये बता दें कि नवरात्रों में प्रतिदिन व्यक्ति को माता के मंदिर में जाकर उनका ध्यान करना चाहिए और अपने एवं परिवार की खुशहाली की प्रार्थना माता से करनी चाहिए। वहीं ये भी बताया जाता है कि अगर कोई सुहागन महिला इन 9 दिन के दौरान माता की पूजा मन से करती है तो उसे विशेष फल मिलता है इतना ही नहीं उसकी हर मनोकामना भी पूरी होती है। माता के आठवें दिन, माता जी की विशेष पूजा का आयोजन किया जाना शुभ बताया जाता है। इस पूजा के लिए यदि किसी ब्राह्मण की मदद लेकर विधी विधान से पूजा कराएं।

तो आइए जानें नवरात्र के इन 9 दिनों में क्या न करें

ध्‍यान रहे की इन 9 दिनों के दौरान अपने घरों में लहसुन और प्याज प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए।

वहीं इसके साथ ही साथ ये भी बता दें कि नवरात्र के इन 9 दिनों में व्यक्ति को दाढ़ी, नाखून व बाल नहीं कटवाने चाहिए। शास्त्रों में इस काम को नवरात्रों के दौरान करने से साफ़ मना किया है।

वहीं आपको ये भी बता दें कि नवरात्र के इन नौ दिनों में मनुष्य को मांस और मदिरा का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

ध्‍यान रहे कि नवरात्र के इन 9 दिनों मे अगर आप व्रत में हैं या फिर व्रत में नहीं भी हैं तो आपको ब्रह्मचर्य व्रत का पालन करना चाहिए। इससे माता की कृपा आपपर बनी रहेगी।