62 घंटे तक पानी की टंकी पर चढ़ा रहा वकील का परिवार, DM-SSP नीचे उतरने की करते रहे गुहार, पढ़े पूरा विवाद

0
10

प्रयागराज में दिल्ली पानी की टंकी पर चढ़े वकील का परिवार आखिरकार 62 घंटे बाद अधिकारियों के समझाने पर नीचे आ गया है। दरअसल पुलिस व प्रशासन अधिकारी उनसे लगातार नीचे उतरने की अपील कर रहे थे, हालांकि उनकी मेहनत का असर करीबन 62 घंटे बाद रंग लाया और परिवार सकुशल नीचे उतर कर आ गया। क्या था यह विवाद और आखिर क्यों एक वकील के परिवार के सभी सदस्य पानी की टंकी पर चढ़ गए थे? आइए हम आपको यह पूरा मामला समझाते हैं।

up-prayagraaj-lawyer-family-has-climbed-a-water-tank-for-62-hours
Social Media

क्या था पूरा विवाद

इस मामले का खुलासा करते हुए हरदोई जिला अधिवक्ता संघ के उपाध्यक्ष केके सिंह ने बताया कि पीड़ित वकील ने उन्हें बताया कि दबंगों के चलते वह पिछले 4 सालों से अपने गांव से बाहर रहने को मजबूर है। वह अपने ही गांव और अपने ही घर में दबंगों की दबंगई के चलते रहने में असमर्थ हैं। उन्होंने बताया कि जिस दबंग ने उन्हें परेशान कर रखा है उस पर पहले से 10 मुकदमे चल रहे हैं। पुलिस से इस मामले में सहायता मांगने के बावजूद भी पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही हैं।

पुलिस नहीं कर रही कोई कार्रवाई

पीड़ित वकील ने बताया कि उसके भाई विवेक के साल 2016 के अपहरण के मामले में भी अब तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है। साथ ही उसकी 60 बीघा जमीन पर भी दबंगों ने कब्जा कर रखा है। वह अपनी ही जमीन पर खेती नहीं कर पा रहा है। ऐसे में अपनी दबंगों से सुरक्षा और मांग को लेकर वकील अपने पूरे परिवार सहित पानी की टंकी पर चढ़ा था।

up-prayagraaj-lawyer-family-has-climbed-a-water-tank-for-62-hours
Social Media

लिखित तौर पर आश्वासन की रखी मागं

अधिवक्ता संघ के उपाध्यक्ष व डीजीपी ने पानी पर चढ़े वकील से बातचीत की। साथ ही कहा कि उनकी अफसरों से बातचीत हुई है और उन्होंने उनकी हर जायज मांग पर विचार करने का आश्वासन भी दिया है, जिस पर वकील पहले से ही लिखित आदेश जारी करने की मांग कर रहा था। लेकिन बहुत समझाने के बावजूद भी उसने अधिकारियों की बात नहीं मानी और लिखित आदेश पर पूरा परिवार अड़ा रहा।

अधिकारियों ने की नीचे उतरने की अपील

गौरतलब है कि रविवार को डीएम और एसएसपी लगातार परिवार से नीचे उतरने की अपील कर रहे थे, लेकिन इसका कोई फायदा नहीं दिख रहा था। इसके साथ ही मौके पर मौजूद कुछ अफसरों को भी भेजने का अनुरोध किया गया, जिसके बाद तड़के ही ना सिर्फ एसडीएम संडीला और सीईओ बघौली बल्कि डिस्टिक बार के पदाधिकारी व डीआईजी समेत अन्य लोग वहां मौके पर पहुंचे।

up-prayagraaj-lawyer-family-has-climbed-a-water-tank-for-62-hours
Social Media

अफसरों के मौके पर पहुंचने के बाद अधिवक्ता और उसके परिवार वालों से लाउडस्पीकर के जरिए बातचीत करते हुए एक बार फिर नीचे उतरने की अपील की गई, लेकिन लिखित आदेश मिलने तक वह इसके लिए राजी नहीं हुए। इसके बाद लगातार अपील के बावजूद भी जब वह नीचे नहीं आये तो टंकी के चारों और जाल बिछा दिया गया।

सरकार का 10 फीट की उंचाई तक जाल बांधने का एकमात्र मकसद यही था कि कहीं वकील के परिवार वाले कोई अप्रिय कदम ना उठा ले। सरकार ने जाल के जरिए उनके बचाव का उपाय पहले से तैयार कर लिया था। यही नहीं उन्होंने टेंट हाउस से करीब 200 गद्दे भी मंगवा दिए थे और उन्हें जाल के नीचे बिछवा दिया था। इस दौरान लगातार पुलिस और प्रशासन अफसर परिवार से नीचे उतरने की अपील कर रहे थे।

up-prayagraaj-lawyer-family-has-climbed-a-water-tank-for-62-hours
Social Media

हालांकि सरकार की ओर से आश्वासन मिलने के 60 घंटे बाद परिवार के सभी सदस्य पानी की टंकी से नीचे उतर आए, जिसके बाद जिला प्रशासन और पुलिस के आलाधिकारियों ने चैन की सांस ली।