PM मोदी ने शुरू की ‘स्वामित्व योजना’, जानिए किन्हे होगा फायदा…

0
5

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार सुबह संपत्ति कार्ड योजना की शुरुआत की और प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने इस योजना को भारत में बदलाव लाने वाली ऐतिहासिक पहल बताया है. सरकार के मुताबिक यह पहली बार है कि लाखों ग्रामीण सपत्ति मालिकों के लाभ के लिए आधुनिक प्रौद्योगिकी कर बड़े स्तर पर अभियान शुरू किया जा रहा है.

आइए जानते हैं क्या है संपत्ति कार्ड या स्वामित्व योजना

स्वामित्व योजना (SVAMITVA scheme): भारत के कई गांव में एक बड़ा हिस्सा ऐसा होता है जिसे आबादी इलाका कहा जाता है. जहां पीढ़ी दर पीढ़ी इसे अपना मानकर हक़ जताया जाता है या फिर इन ज़मीन को लेकर मालिकाना हक़ के लिए झगडे होते रहते हैं और ये वह ज़मीन है जिसके कागज़ात मालिकों के पास नहीं होते हैं. ऐसे आबादी इलाकों में न तो कभी सरकार की तरफ से सर्वे किया जाता है, न ही इसके लीगल कागज़ात तैयार किए जाते है.

स्वामित्व योजना के अंतर्गत ऐसे ही ज़मीन पर बने घरों के मालिकाना हक़ के लिए भारत सरकार की और से एक नई पहल की गई है, जिसे ‘स्वामित्व स्कीम’ का नाम दिया गया है. इस योजना के अंतर्गत मालिकों को सर्वे के बाद संपत्ति कार्ड दिया जा रहा है. जिससे उनके पास अपने घरों के मालिक होने का क़ानूनी दस्तावेज़ होगा.

स्वामित्व योजना स्कीम के फ़ायदे:

  • अब ‘संपत्ति कार्ड’ मिलने से लोग इसे दिखा कर बैंकों से क़र्ज़ ले सकेंगे.
  • राज्य सरकारें चाहे तो उन इलाक़ों में सर्कल रेट तय कर सकती हैं.
  • ज़मीन की ख़रीद और बिक्री में आसानी हो जाएगी.
  • इससे सरकार को राजस्व का फ़ायदा होगा.
  • इसका इस्तेमाल लोकल एरिया डेवलपमेंट में भी किया जा सकता है.
  • रिपोर्ट के मुताबिक ग्राम पंचायतों की ओर से जितना प्रॉपर्टी टैक्स वसूल किया जाना चाहिए, उसका केवल 19 फ़ीसदी वसूल किया जाएगा.
  • अब इस योजना के बाद इस टैक्स में भी इजाफ़ा होगा.