‘बाबा का ढाबा’ को मशहूर करने वाले गौरव ने लिखी कविता: ‘अच्छा काम करते करते आज तू भी हार गया’

0
21

दिल्ली के मालवीय नगर में स्थित ‘बाबा का ढाबा’ का बीते महीने एक फूड ब्लॉगर गौरव वसन ने वीडियो बनाया था, जिसमे 83 साल के बुज़ुर्ग कांता प्रसाद और उनकी पत्नी अपने ढाबे को चलाने की पूरी कोशिश करते हैं, मगर कोरोना महामारी के चलते उनके ढाबे पर कोई नहीं आता है जिससे उनकी कमाई रोज़ की बस 200-500 रूपए तक ही हो पाती है.

Social Media

बता दें, ‘बाबा का ढाबा’ के बाबा ने बीते दिनों ही फ़ूड ब्लॉगर गौरव वासन पर सोशल मीडिया के जरिए आई मदद की रकम की हेरा फेरी का आरोप लगाया था और उनके खिलाफ FIR भी दर्ज कराई थी. हालांकि FIR के बाद गौरव ने बाबा को बाकि के बचे रूपए भी दे दिए थे, मगर गौरव ने अबतक इस मामले को लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी.

Social Media

हाल ही में गौरव ने अपने फेसबुक अकाउंट पर विक्रांत दत्त की लिखी एक कविता पोस्ट की है जो कुछ इस प्रकार है- “गौरव तेरी करनी पर बैल तुझे ही मार गया, अच्छा काम करते करते आज तू भी हार गया”. गौरव की शेयर की इस पोस्ट से तो यही अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि उन्होंने किसी के लिए अच्छा काम किया, लेकिन उनको ही भुगतना पढ़ गया.

गौरव की फेसबुक पोस्ट कुछ इस तरह से थी-

“गौरव तेरी करनी पर बैल तुझे ही मार गया
अच्छा काम करते-करते आज तू भी हार गया
तेरी नियत पर अब सवाल हर कोई करता है, तूने अच्छा काम किया है
तू लोगो से क्यों डरता है
बाबा ने कर ली मन की शायद उसके कान भरे
पिछले महीनो दिल्ली में भी कितने लोग भूके मरे
तूने जा कर उसके ही ढाबे को मशहूर किया
बाबा की करनी के पीछे कितनो के अरमान मरे
अच्छा काम करने का गर ये ही सिला मिलता है
दिल में अगर हो चाहत तो पहाड़ भी एक दिन हिलता है
तू अपना मन मत मार लेना इस घटना के बाद
कीचड़ में रह रह कर ही कमल का फूल खिलता है”

इस कविता की आखिरी की दो लाइन हिम्मत भी बांधे रखती है “तू अपना मन मत मार लेना… इस घटना के बाद में कीचड़ में रह-रह कर ही कमल का फूल खिलता है” गौरव ने सोशल मीडिया पर इस अंदाज़ से बयां की दिल की बात. गौरव पर बाबा का ढाबा के बाब द्वारा कराइ गई FIR के चलते, वह इन दिनों बहुत परेशान थे, मगर इस मामले पर कुछ भी कहने के लिए आगे नहीं आ रहे थे. बीते दिनों उन्होंने बाबा के बाकी के बचे रूपए उन्हें लौटा दिए.

बता दें, बुज़ुर्ग दम्पति अब आराम से अपना जीवन जी रहे हैं और खुश भी है, साथ ही वह दोनों मिलकर अपना छोटा सा ढाबा बखूबी चला रहे हैं. हाल ही में बाबा ने किराए पर अपना एक घर लिया है और अपनी आँखों का ऑपरेशन भी करवाया है.