IPL- खतरे में केएल राहुल का ऑरेंज कैप, इन दो बल्लेबाजों पर टिकी है सबकी नजरें!

0
5

किंग्स इलेवन पंजाब की टीम इस साल प्लेऑफ के लिये भी क्वालिफाई नहीं कर सकी, लेकिन कप्तान केएल राहुल ने इस बार रनों का अंबार लगा दिया।

New Delhi, Nov 07 : आईपीएल के मौजूदा सीजन खत्म होने में सिर्फ 2 मैच बचे हैं, मुंबई इंडियंस की टीम पहले ही फाइनल में सीट बुक कर चुकी है, जबकि दिल्ली कैपिटल्स और सनराइजर्स हैदराबाद की टक्कर दूसरे क्वालिफायर में होगी, इस बीच ऑरेंज कैप की लड़ाई भी बेहद दिलचस्प दौर में पहुंच चुकी है, आईपीएल के पहले हफ्ते से ही इस बार किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान केएल राहुल का इस कैप पर कब्जा रहा है, उन्होने अब तक सबसे ज्यादा 670 रन बनाये हैं, लेकिन अब टूर्नामेंट के आखिरी दोर में उन्हें दो बल्लेबाजों से खतरा दिख रहे हैं, ये हैं डेविड वॉर्नर और शिखर धवन।

शीर्ष पर केएल राहुल
किंग्स इलेवन पंजाब की टीम इस साल प्लेऑफ के लिये भी क्वालिफाई नहीं कर सकी, लेकिन कप्तान केएल राहुल ने इस बार रनों का अंबार लगा दिया, उन्होने अब तक सबसे ज्यादा 14 मैचों में 55 के औसत से 670 रन बनाये, इस दौरान 1 शतक और 5 अर्धशतक भी लगाये, उन्होने सबसे ज्यादा 58 छक्के भी लगाये हैं, साल 2018 के सीजन में भी राहुल 659 रन बनाकर तीसरे स्थान पर रहे थे, जबकि पिछले साल 2019 में 593 रन बनाये थे।

रेस में डेविड वॉर्नर
ऑरेंज कैप पर एक बार फिर से सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान डेविड वॉर्नर की नजर टिकी है, उन्होने अब तक 546 रन बनाये हैं, वो राहुल से 124 रन पीछे हैं, अगर हैदराबाद की टीम फाइनल में पहुंचती है, तो फिर वॉर्नर के पास राहुल से ऑरेंज कैप छिनने का मौका होगा, मौजूदा सीजन में वॉर्नर के बल्ले से अब तक 4 अर्धशतक निकल चुके हैं, आपको बता दें कि पिछले साल भी ऑरेंज कैप पर वॉर्नर का ही कब्जा था, उन्होने सबसे ज्यादा 692 रन बनाये थे।

धवन की नजर
ऑरेंज कैप की रेस में दिल्ली कैपिटल्स के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन की भी नजरें टिकी है, उन्होने अब तक 15 मैचों में 525 रन बनाये हैं, खास बात ये है कि गब्बर ने इस साल दो शतक लगाया है, लगातार दो पारियों में उन्होने ऐसा कारनामा किया, पहले सीएसके के खिलाफ 101 रनों की पारी खेली, फिर पंजाब के खिलाफ 106 रन बनाये, दोनों ही पारियों में वो नॉट आउट रहे, केएल से ऑरेंज कैप छिनने के लिये शिखर को 145 रनों की जरुरत है, अगर दिल्ली की टीम फाइनल में पहुंचती है, तो फिर उन्हें ये मुकाम तक पहुंचने के दो मौके मिल सकते हैं।