अपने बुरे कामों के लिए तानाशाह किम जोंग उन ने मांगी माफी, रोते हुए कही यह बातें

0
2

उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन की एक वीडियो दुनियाभर में काफी वायरल हो रही है। जिसमें ये रोते हुए नजर आ रहे हैं। इतना ही नहीं इस वीडियो में ये अपने देश की जनता से माफी भी मांग रहे हैं। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक ये वीडियो उस समय की है जब किम जोंग उन अपनी पार्टी की 75वीं वर्षगांठ पर जनता को संबोधित कर रहे थे। जनता से बात करते हुए अचानक से ये भावुक हो गए और इन्होंने रोना शुरू कर दिया।

नाकामियों के लिए मांगी माफी

अपनी तानाशाही के लिए दुनियाभर में बदनाम किम जोंग उन ने नम आंखों से पहली बार जनता से माफी मांगी है। इन्होंने कहा कि मेरे प्रयास और ईमानदारी हमारे लोगों को उनके जीवन में कठिनाइयों से छुटकारा दिलाने के लिए पर्याप्त नहीं है। हालांकि चाहे वो कुछ भी हो, हमारे लोगों ने हमेशा मुझ पर विश्वास किया है और पूरी तरह से मुझ पर भरोसा किया है और मेरी पसंद और दृढ़ संकल्प का समर्थन किया है। राज्य टेलीविजन स्टेशन द्वारा जारी किए गए एडिटेड वीडियो फुटेज में किम जोंग के आंखों में आंसू दिख रहे थे और बोलते हुए इनका गला भी सूख गया था। भाषण देते समय ये अपने आंसू भी पोछते हुए दिखें।

इस वजह से मांगी मांफी

दरअसल इस समय उत्तर कोरिया की अर्थव्यवस्था काफी बिगड़ गई है। परमाणु हथियारों और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों पर लगाए गए अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों और कोरोना वायरस के चलते यातायात बंद होने के कारण इस देश की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ा है। इसलिए किम जोंग उन ने सार्वजनिक तौर पर अपने देश के लोगों से माफी मांगी है।

सैनिकों का किया धन्यवाद

सेना की परेड के दौरान इन्होंने सैनिकों का धन्यवाद भी किया। भाषण देते हुए किम जोंग उन ने कहा कि तूफानों और कोरोना वाययरस के प्रसार को रोकने में सेना की अहम भूमिका रही है। वो आभारी हैं कि एक भी उत्तर कोरियाई कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं हुआ।

अपने पूर्वजों को किया याद

अपने पूर्वजों की विरासत को याद करते हुए किम जोंग उन ने कहा कि मुझे इस देश का नेतृत्व करने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गई है। महान कॉमरेड किम इल-सुंग और किम जोंग-इल के दिखाए रास्ते पर चलने के लिए मुझ पर विश्वास जताने के लिए सभी लोगों का धन्यवाद।

आपको बता दें कि पिछले ही महीने किम जोंग उन ने अपने सैनिकों की ओर से दक्षिण कोरियाई नागरिक की हत्या के लिए माफी भी मांगी थी। दरअसल दक्षिण कोरिया के एक नागरिक को उत्तर कोरिया के सैनिकों ने संदिग्थ डिफेक्टर मानकर गोली मार दी थी। दक्षिण कोरिया के नागरिक से पहले कई घंटों तक पूछताछ की गई थी। उसके बाद इसे मार दिया गया था। इतना ही नहीं कोरोना वायरस से बचाव के नाम पर उसके शव को भी जला दिया था। बाद में ये नागरिक दक्षिण कोरिया के फिशरीज डिपार्टमेंट का कर्मचारी निकला था। इस घटना के बाद से दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया के बीच तनाव ओर बढ़ गया था। इस तनाव को कम करने के लिए किम जोंग उन ने माफी मांगी थी।