निकासी और जमा करने पर बैंक वसूलेगा इतना चार्ज! जरुर जानें वित्त मंत्रालय ने क्या कहा

0
5

नई दिल्ली: इस महीने के शुरुआत में बैंक चार्जेज (bank charges) को लेकर कई खबरें सामनें आईं थी। जिसे लेकर वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने प्रेस रिलीज जारी किया है। वित्त मंत्रालय ने साफ-साफ कहा है कि किसी भी पब्लिक सेक्टर बैंक ने वर्तमान चार्जेज में बढ़ोतरी नहीं की है। 60.04 करोड़ सेविंग अकाउंट (Basic Savings Bank Deposit), जिसमें 41.13 करोड़ जन धन अकाउंट भी शामिल हैं, उस पर सर्विस चार्ज में कोई बदलाव नहीं हुआ है। रिजर्व बैंक के दिशा निर्देश के तहत जन धन खातों को सारी सर्विस मुफ्त में है।
चार्जेज पहले की तरह

रेग्युलर सेविंग अकाउंट्स, करंट अकाउंट्स, कैश क्रेडिट अकाउंट्स और ओवरड्रॉफ्ट अकाउंट्स को लेकर जो चार्जेज पहले लगते थे, वे अभी भी लागू हैं। इसमें कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है। हालांकि बैंक ऑफ बड़ौदा ने 1 नवंबर से निकासी और जमा करने की मंथली फ्री लिमिट को लेकर कुछ बदलाव का फैसला लिया था।

बैंक ऑफ बड़ौदा ने निकासी और जमा करने की फ्री लिमिट को 5 से घटाकर 3 कर दिया गया था। यह 1 नवंबर से लागू किया गया था। फ्री लिमिट से ज्यादा निकासी या जमा करने पर लगने वाला चार्ज पहले की तरह ही है। हालांकि बैंक ने बाद में इस फैसले को वापस ले लिया है। मतलब बैंक ऑफ बड़ौदा में फिर से एक महीने में पांच निकासी और पांच जमा मुफ्त है। इसके अलावा किसी और पब्लिक सेक्टर बैंक ने किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया है।

क्या है RBI की गाइडलाइन

सर्विस चार्ज को लेकर रिजर्व बैंक की गाइडलाइन की बात करें तो उसका साफ-साफ कहना है कि सभी बैंक जिसमें पब्लिक सेक्टर बैंक भी शामिल हैं, उन्हें अपनी सर्विस के लिए चार्ज वसूली करने का पूरा अधिकार है। हालांकि यह पारदर्शी, बिना भेदभाव वाला और न्यायपूर्ण हो। सभी पब्लिक सेक्टर बैंकों ने साफ-साफ कहा है कि वे आने वाले समय में भी चार्ज बढ़ाने को लेकर कोई विचार नहीं कर रहे हैं।