पायल घोष ने राष्ट्रपति से लगाई मदद की गुहार, बोली – यह अपराध किसी गरीब व्यक्ति ने किया होता तो..

0
2

हाल ही में बॉलीवुड के मशहूर निर्माता-निर्देशक अनुराग कश्यप के खिलाफ अभिनेत्री पायल घोष ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. पायल घोष ने एक ट्वीट करते हुए अनुराग कश्यप पर अपने साथ बलात्कार के आरोप लगाये थे और ट्वीट में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी टैग किया था. पायल ने मुंबई के वर्सोवा थाने में अनुराग कश्यप के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करवाई थी, जिसके बाद मुंबई पुलिस ने अनुराग को समन भेजा था. अनुराग से इस मामले में लगभग 8 घंटे तक पूछताछ चली थी.


बीते दिनों पायल घोष ने एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी को टैग करते हुए एक ट्वीट किया था. इस ट्वीट में पायल ने कहा था कि उन्हें जान का खतरा है. अपने इस ट्वीट में पायल ने लिखा था,

“ये माफिया गैंग मुझे मार डालेगा सर और मेरी मौत को सुसाइड या फिर कुछ और साबित कर देंगे”.

गौरतलब है कि इससे पहले भी पायल घोष ने ट्वीट करते हुए अपनी जान का खतरा बताया था. एक्ट्रेस के मुताबिक उन्होंने अनुराग कश्यप के ऊपर जो आरोप लगाए हैं, उसके बाद उनकी जान को बन आई है.

राष्ट्रपति को लिखा खत

ऐसे में अब अभिनेत्री ने इंसाफ की गुहार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से लगाई है. एक्ट्रेस ने राष्ट्रपति को एक खत लिख उनसे मदद मांगी है. पायल ने खत में लिखा है कि मामले की जांच बहुत धीमे गति से आगे बढ़ रही है, इसलिए उन्हें राष्ट्रपति से मदद मांगनी पड़ रही है. पायल अपने खत में लिखती हैं,

“आदरणीय महोदय, मैं पीड़िता हूं और मैंने वर्सोवा पुलिस स्टेशन में आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. आरोपी ने मुझे फिल्म उद्योग में काम देने के बहाने अपने घर पर बुलाया और उसके बाद उसने मेरे साथ जघन्य अपराध किया. मैंने 22/09/2020 को शिकायत दर्ज कराई है, लेकिन अब तक जांच में कोई प्रगति नहीं हुई है”.

पायल आगे लिखती हैं,

“आरोपी बेहद प्रभावशाली व्यक्ति है और इसलिए पुलिसकर्मी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर रहे हैं. यदि यह अपराध किसी गरीब व्यक्ति ने किया होता, तो उसे तुरंत गिरफ्तार कर लिया जाता. मैं न्याय पाने के लिए हाथ जोड़कर हर दरवाजा खटखटा रही हूं. आपसे अनुरोध है कि कृपया मेरे मामले में हस्तक्षेप करें और मुझे न्याय दिलाने में मेरी मदद करें”.

अभिनेत्री ने इस खत को अपने ट्विटर अकाउंट पर भी साझा किया है. इसके साथ वह लिखती हैं,

“यह भारत के माननीय राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को लिखा गया मेरा पत्र है”.

आरोपों को बताया झूठा

हाल ही में पायल ने इस मामले में गृह राज्यमंत्री जी.किशन रेड्डी से भी मुलाकात की थी. राष्ट्रीय महिला आयोग द्वारा भी पायल के मुद्दे को उठाया गया है. वहीं, मुंबई पुलिस से पूछताछ के दौरान बलात्कार का आरोपी अनुराग कश्यप ने अपने ऊपर लगे बलात्कार के आरोपों को बेबुनियाद बताया है. अनुराग की मानें तो साल 2013 के अगस्त महीने में वह भारत में थे ही नहीं. वह अपनी किसी फिल्म की शूटिंग के लिए उस वक्त श्रीलंका में मौजूद थे. पायल के मुताबिक अनुराग ने घर बुलाकर उनके साथ बलात्कार किया था.

पढ़ें विदेश में जन्मी ये स्टार अब बॉलीवुड इंडस्ट्री की बन चुकी हैं जान, देखें तस्वीरें