Karva Chauth 2020: जानिए कुंवारी लड़कियां चंद्रमा नहीं इनको देखकर तोड़ें व्रत?

0
7

नई दिल्ली: Karva chauth puja vidhi forunmarried, Karva Chauth 2020 आज देशभर में करवा चौथ त्योहार मनाया जा रहा है। करवा चौथ का व्रत सभी व्रतों में सबसे कठीन होता है और सुहागन महिलाएं इस व्रत को पूरी आस्था और विश्वास के साथ रखती हैं। क्योंकि सुहाग की सलामत से बढ़कर इनके लिए कुछ नहीं होता है। यह व्रत हर साल कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है। सुहागन महिलाओं के साथ-साथ कई जगह कुंवारी लड़कियां भी इस व्रत को रखती हैं। लेकिन कुंवारी लड़कियों के लिए पूजा संबंधित नियम कुछ अलग होते हैं, जिनके प्रयोग से आसानी से इस व्रत को किया जा सकता है….

जानिए कैसे विवाहित महिलाओं से अलग हैं व्रत के नियम
कुछ संप्रदाय ऐसे हैं, जहां अविवाहित लड़कियां अपने मंगेतर या साथी के लिए शादी से पहले लड़कियों को करवा चौथ का व्रत करने के लिए कहा जाता है। ऐसी लड़कियां जिनका विवाह तय हो गया हो, वे करवा चौथ का व्रत रख सकती हैं। अविवाहित लड़कियां को व्रत का पालन सामान्य नियम के अनुसार करने पड़ते हैं लेकिन पूजा से संबंधित कुछ नियम ऐसे होते हैं, जो विवाहित महिलाओं से अलग होते हैं।

जरूरी नहीं है निर्जला व्रत रखने की – करवा चौथ के दिन कुंवारी लड़कियां को निर्जला व्रत रखने की जरूर नहीं है, वह निराहार व्रत रह सकती हैं। निर्जला व्रत शादी के बाद रखा जाता है क्योंकि आपकी शादी नहीं हुई है इसलिए आपको न तो सरगी मिलेगी और न ही बयाना निकाला जाएगा। इसलिए निराहार व्रत करवा चौथ के दिन व्रत रह सकते हैं।

चंद्रमा को देखकर ना तोड़ें व्रत- कुंवारी लड़कियां केवल चौथ माता, भगवान शिव व पार्वती की पूजा करें और उनकी ही कथा सुननी चाहिए। शास्त्रों के अनुसार, कुंवारी लड़कियों को चंद्रमा को देखकर व्रत तोड़ने की जरूरत नहीं है, वह तारे देखकर व्रत का समापन कर सकती हैं।

केवल यही देख सकती हैं चंद्रमा – कुंवारी लड़कियों को करवा चौथ के व्रत में छलनी की जरूरत नहीं है। वह तारों को अर्घ्य देकर पूजन कर लें और व्रत का परायण भी कर लें। चंद्रमा को देखकर केवल विवाहित महिलाएं ही व्रत तोड़ सकती हैं। इस बात का संदर्भ वारह पुराण में द्रौपदी की कथा में मिलता है।

व्रत से सुयोग्य वर की होती है प्राप्ति – कुंवारी लड़कियां जब करवा चौथ का व्रत रखती हैं तो उनको मनोवांछित पति की प्राप्ति होती है। यदि शादी तय हो गई है तब आप मंगेतर की फोटो को देखकर व्रत खोल सकती हैं। मान्यता है कि व्रत से सुयोग्य वर की प्राप्ति होती है।