डीएम किसान के वेश में मुंह पर अंगोछा, पैरों में हवाई चप्पल पहने, धान खरीद केंद्र पहुँचे, खुल गई सारी पोल

0
10

ऐसा कहा जाता है कि अगर आप अपने समाज में किसी सुधार को लेकर ठान ले तो कुछ भी असंभव नहीं है। ऐसा ही एक कारनामा चल रहा था उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले के धान खरीद केंद्र पर। लेकिन जब कानो कान और कुछ किसानों के द्वारा वहाँ के डीएम को इस बात की शिकायत मिली तो उन्होंने तुरंत इसपर एक्शन लिया और 10 अक्टूबर को मुंह पर अंगोछा बाँधे, शर्ट बाहर किए और पैरों में हवाई चप्पल पहने पहुँच गए धान खरीद केंद्र पर। उनकी वेशभूषा को देखकर किसी ने उन्हें नहीं पहचाना और पहुँचने के बाद वह वहाँ किसान बनकर धान बेचने की बात करने लगे। इस दौरान उनका सामना कई बिचौलियों से भी हुआ जो उन्हें उल्टी-सीधी रेट बता रहे थे।

Oneindia Hindi

पिछले कई दिनों से उन्हें यह शिकायतें मिल रही थी, लेकिन उन्हें यक़ीन नहीं हुआ। लेकिन जब शिकायतें बढ़ गई तब उन्होंने इसकी सच्चाई का पता लगाने के लिए ऐसा किया। धान खरीद केंद्र पर जाने के दौरान डीएम आन्जनेय कुमार सिंह ने काफ़ी दूर पहले ही अपनी गाड़ी को रोक दिया था। उसके बाद वह बाइक पर सवार होकर वहाँ पहुँचे। सारा पोल खुलने के बाद डीएम ने बिलासपुर स्थित एनसीसीएफ के धान बिक्री केंद्र पर भारी अनियमितता पर केंद्र प्रभारी के खिलाफ धान खरीद में शासन द्वारा दिए गए निर्देशों के प्रति लापरवाही करने के कारण FIR दर्ज कराने का निर्देश भी दिया।

शुरू हो चुकी है धान खरीद

Oneindia Hindi

मीडिया को डीएम आन्जनेय कुमार सिंह ने बताया कि धान खरीद शुरू हो चुकी है और हमारे सभी केंद्र ऑनलाइन भी हो चुके है। पिछले कुछ दिनों से शिकायतें मिल रही थी, जिनमें मिलक मंडी के बाहर जो खरीद हो रही थी उनके ऊपर जुर्माना लगाया गया और उनके खिलाफ कार्यवाही शुरू की गई। वहीं अब शिकायत मिली थी कि बिलासपुर स्थित धान खरीद केंद्र पर 11 सौ से लेकर 14 सौ तक में धान खरीदी की जा रही है। इसलिए इस शिकायत का पता लगाने के लिए मैं ख़ुद इन केंद्रों पर औचक निरीक्षण करने पहुँच गया।

किसानों से 400 से 500 रुपए कम में बिचौलिए खरीद लेते है धान: डीएम

डीएम ने यह भी बताया कि किसान धान खरीद केंद्र के अंदर तो वहाँ के लोगों के साथ-साथ कुछ प्राइवेट लोग भी भोले-भाले किसानों को बहला-फुसलाकर उल्टी-सीधी दामों पर धान खरीद लिया करते हैं, जिसकी क़ीमत करीब 400 से 500 रुपए तक कम होती है। डीएम ने वहाँ के लोगों के साथ-साथ कुछ प्राइवेट लोगों से भी बातचीत की और सारी सच्चाई का पता लगाया। डीएम ने यह भी कहा कि इस मैटर पर बातें करने के लिए आज उन्होंने सारे अधिकारियों की बैठक बुलाई है और कहा कि आगे जो लोग भी इस तरह से कम दामों पर किसानों से खरीददारी करेंगे उन पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

डीएम ने दो खरीद केंद्र पर कार्यवाही भी की

डीएम आन्जनेय कुमार सिंह के द्वारा दो खरीद केंद्रों पर कार्यवाही भी की गई है। साथ ही साथ ऐसी व्यवस्था भी की जा रही है कि किसानों को आसानी से खरीद केंद्र दिखे और किसान वहाँ सीधे एंट्री पा सके जिसके बीच में कोई प्राइवेट आदमी न हो। उन्होंने कहा कि इसके लिए कमेटी भी बनाई जा रही है, जिनके द्वारा हर जगह रोड पर निगरानी की जाएगी और अगर सड़क पर भी किसान से कोई इस तरह का सौदा करता हुआ पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।