जयपुर की बेटी नें कायम की शिक्षित समाज की मिसाल , खुद तलाश करके करवाई विधवा माँ की शादी

0
20

भारत एक ऐसा देश है जहा पर अभी भी दूसरी शादी के बारे में लोगो सोचते भी नहीं है और अगर कोई ऐसा करता है तो उसे कई सवालों का सामना करना पड़ता है पर आज हम आपको एक ऐसी घटना के बारे में बताने वाले है जहा पर एक बेटी ने ही अपनी माँ की दूसरी शादी करवाई है ये मामला है राजस्थान के जोधपुर का जहा पर एक बेटी के एक फैसले ने लोगो का दिल जीत लिया है।

जैसा की आप जानते जा की आज के दौर में भी औरतो के लिए दूसरी शादी करना कितना मुश्किल है और एक माँ के लिए तो उसे भी ज्यादा पर एक बेटी ने ऐसा अपनी माँ की ज़िन्दगी सवार ने के लिए कर दिखाया और जब उनसे इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा की ‘अगर हम कभी दुखी हो तो सम्भालने के लिए माँ है पर अगर माँ दुखी हुई तो उसे सम्भालने के लिए भी कोई न कोई घर में होना चाहिए’ बता दे की माँ का नाम गीता बताया जा रहा है जो के पेशे से एक शिक्षिका हैं।

खबरों के अनुसार उनके पति साल 2016 यानी के 4 साल पहले हार्ट अटैक के करना दुनिया छोड़गए थे और उनकी अचानक मौत के चलते इनकी जिंदगियों को बर्बाद करके चला गया।पर इन सभी दुख तकलीफों के बाद भी गीता की बेटी नें कभी भी माँ को अकेला नही होने दिया वक्त को ध्यान में रखते हुए उन्होंने अपनी माँ की दूसरी शादी करवाने के बारे में सोचा।

कुछ समय बाद उन्होंने अपनी माँ की मुलाकात एक अच्छे इंसान से करवाई और उस शख्स उन्होंने अपनी ज़िन्दफी से उन्हें से रूबरू कराया और जब बेटी को लगा की उनकी माँ और शख्स के बीच सम्बन्ध अच्छे हो गये तो बेटी नें शादी की बात चलाई और शादी के बाद माँ की ज़िनदी में एक नई वजह आ गई जीने की साथ ही एक सहारा भी मिल गया जो उन्हें संभालेगा।