दुनिया में अमेरिका के पास है सबसे ज्यादा 81.3 लाख किलोग्राम सोना, जानिए भारत के पास है कितना भंडार…..

0
483

भारत को यु तो सोने की चिड़िया कहा जाता था,और आज भी भारत के पास सोने की कमी नहीं है,भारतीय लोगो को में सोना पहनने का बहुत क्रेज़ है,यहाँ गरीब से गरीब के पास भी सोना मिल जाएगा,और जो सम्पन परिवार से उनका सोना पहनना तो देखते ही बनता है,सोने का इतना शोक होने के बाद भी हमारा देश सोना रखने में पहले नंबर पर नहीं है, आज हम आपको इस पोस्ट में बताने जा रहे है की किस देश के पास सबसे ज़्यादा सोना है, वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल ने रिपोर्ट जारी करके बताया कि दुनिया में सबसे ज्यादा सोने का भंडार किस देश के पास है ।

सोना मुश्किल वक्‍त में काम आता है. कई देश इसे रिजर्व के तौर पर रखते हैं. सोने के रिजर्व के मामले में भारत भी किसी से पीछे नहीं है. हाल ही में आई एक रिपोर्ट में सोना रिजर्व रखने वाले टॉप-10 देशों की लिस्ट में भारत का 9वां स्थान है. वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (डब्ल्यूजीसी) की रिपोर्ट के मुताबिक, सबसे अधिक सोने के भंडार वाले देशों में अमेरिका पहले नंबर पर है । दुनिया में सबसे ज्यादा सोने का भंडार अमेरिका के पास है. उसके पास 8133 टन सोना मौजूद है. जो उसके कुल विदेशी मुद्रा भंडार का 76.9% है ।

वही हम भारत की बात करे तो भारत के पास 618.20 टन सोना रिजर्व है. जिसकी कुल कीमत 28 अरब डॉलर है. इसका विदेशी पूंजी भंडार में 7 फीसदी से ज्यादा योगदान है ।

वही इस लिस्ट में दूसरे स्थान पर जर्मनी है. जर्मनी के पास कुल 3366.8 टन सोना मौजूद है. इसकी कुल विदेशी मुद्रा भंडार में हिस्सेदारी 73% है,तीसरे स्थान पर इटली का नाम आता है. इसके पास 2451.8 टन सोना है, जो कुल विदेशी मुद्रा भंडार का 68.4% है,दुनिया में सबसे ज्यादा गोल्ड रिजर्व में चौथे स्थान पर फ्रांस मौजूद है. इसके पास कुल 2436 टन सोना मौजूद है, पांचवें स्थान पर रूस का नाम आता है. रूस के पास 2241.9 टन सोना है, जो इसकी विदेशी मुद्रा भंडार का 20.2% है,छठवें स्थान पर चीन का नाम आता है. चीन के पास 1948.3 टन सोना है. जो इसके विदेशी मुद्रा भंडार का 2.9% है,सातवें स्थान पर स्विट्जरलैंड का नाम आता है. इसके पास 1040 टन सोना मौजूद है,आठवें स्थान पर जापान है. जापान के पास 765.2 टन सोना मौजूद है, जो विदेशी मुद्रा भंडार का 2.8% है,और दसवे स्थान पर नीदरलैंड के पास 612.50 टन सोना रिजर्व है. जिसकी कुल कीमत 28.10 अरब डॉलर है. इसका विदेशी पूंजी भंडार में 54.5 फीसदी योगदान है ।