कुत्ता पालने से दिल की बीमारियां भी होती है दूर, जानिए और क्या है कुत्ते पालने के फायदे

0
11

बहुत से लोगो को अपने घरों में पेट्स रखने का बहुत शौक होता है। लोग कुत्ता, बिल्ली से लेकर खरगोश तक पालते है। ज्यादातर लोग अपने घर में बाकी जानवरो के मुकाबले कुत्ता पालना पसंद करते हैं। कुत्ते को आदमी का सबसे अच्छा दोस्त भी कहा गया है। कुत्तों को पालने वाले लोग इस बात को अच्छी तरह से जानते होंगे कि उनका कुत्ता उन्हें कितना राहत और सुकून देता है। लेकिन इस बात से कई लोग अनजान होंगे कि कुत्तों का संबंध सीधे उनके दिल से है। कुत्ता पालने वाले लोगों के लिए यह खबर एक खुशखबरी की तरह है।  एक अध्ययन में यह सामने आया है कि हार्ट अटैक यानी दिल के दौरा को कम करने के लिए कुत्ता पालना फायदेमंद हो सकता है। कुत्ता पालना हार्ट अटैक व स्ट्रोक से उबर रहे रोगियों के लिए लाभदायक साबित हो सकता है। वही यह भी सामने आया है कि कुत्तों के पालने से सिर्फ दिल की बीमारी ही नहीं बल्कि कई अन्य बीमारियों का खतरा भी कम किया जा सकता हैं।

तनाव से मिलेगा छुटकारा

स्टडी के मुताबिक अगर कोई इंसान स्ट्रेस में है तो कुत्तों के साथ समय बिताना बेहतर साबित हो सकता है। कुत्ते इंसान के मेंटल स्ट्रेस को कम कर देते हैं जिस वजह से दिल से जुड़ी बीमारी का खतरा भी कम हो जाता है। वहीं पालतू कुत्ते के साथ रहने वाले हृदय रोगियों में मौत का जोखिम भी कम होता है। कुत्ते पालने वाले लोगों की सेहत से उन लोगों की तुलना की गई, जिन्हें दिल का दौरा या स्ट्रोक नहीं पड़ा था। पाया गया कि पालतू कुत्ते के साथ रहने वाले हृदय रोगियों के लिए मौत का जोखिम 33%कम था। कुत्ता अपने मालिक का सबसे अच्छा दोस्त होता है। अपने निस्वार्थ प्यार से वह आपको तनाव से दूर रखता है।

ब्लड प्रेशर रहेगा ठीक

कई अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि कुत्ते पालने वाले लोगों का बल्ड प्रेशर, कुत्ते न पालने वालों की तुलना में कम होता है। इसका कारण ये है कि कुत्तों का हमारे शरीर पर सकरात्मक असर पड़ता है और वे हमें शांत कर देते हैं। इसके अलावा पालतू कुत्तों को घूमाने-टहलाने के कारण हमारी अच्छी एक्सरसाइज हो जाती है। जिससे हमारा शरीर भी बिल्कुल फिट रहता हैं। इतना ही नहीं, पेट्स यानी पालतू जानवरों को छूने पर भी एक खास इफेक्ट होता है जो शरीर पर पॉजिटिव असर डालता है। साथ ही कुत्ते पालने वालों में कलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड का लेवल भी कम पाया गया।

मधुमेह का खतरा होगा कम

वैज्ञानिकों का मानना है कि अगर आप कुत्ता पालते है तो ऐसे में मधुमेह रोगी कुत्ते के साथ एक्टिव लाइफस्टाइल अपनाकर खुद को स्वस्थ रख सकते हैं। कुत्ते के साथ मस्ती करना या वॉक पर जाना आपके लिए मददगार साबित होता है। वही दौड़ते भागने रहने से वजन भी ज्यादा नहीं बढ़ता और बॉडी फिट और एक्टिव रहती हैं।

सामाजिक जीवन में होगा सुधार

रिसर्च के मुताबिक पालतू जानवर पालने से आपके सामाजिक जीवन में सुधार हो सकता है। इसकी वजह ये है कि कुत्ते पालने वाले लोग हमेशा वॉकिंग पर जाते हैं  इस दौरान पार्क में या फिर ग्रुप में कहीं जाने पर ज्यादा से ज्यादा लोगों से मुलाकात होती है। ऐसे में आपकी जान-पहचान व दोस्ती बढ़ती है।