Bihar election 2020: बिहार में ‘लालटेन’ की जरूरत नहीं, अब उजाले की बात हो रही : मोदी

0
5

Bihar election 2020: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को बिहार के चुनावी रण में पहुंचे और जहां विपक्षियों पर जोरदार सियासी हमला बोला। सासाराम के डेहरी में प्रधानमंत्री ने अपने चिरपरिचित अंदाज में भोजपुरी भाषा में भाषण देकर लोगों को आकर्षित करने की कोशिश की, जबकि गया और भागलपुर की रैली में लालू सरकार की याद दिलाते हुए कहा कि बिहार में लालटेन की जरूरत समाप्त हो गई है।

उन्होंने बिहार को आत्मनिर्भरता के रास्ते पर चलने का एहसास भी लोगों को कराया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गया में अपनी चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए 90 के दशक के राजद सरकार की चर्चा करते हुए कहा, “एक वह दौर था जब बिजली संपन्न परिवारों के घर में होती थी, गरीब का घर दीए और ढिबरी के भरोसे रहता था। आज के बिहार में लालटेन की जरूरत खत्म हो गई है। आज बिहार के हर गरीब के घर में बिजली का कनेक्शन है, उजाला है।”

उन्होंने कहा कि, “उस दौर में लोग कोई गाड़ी नहीं खरीदते थे, कि उनकी कमाई का पता न चल जाए। ये वो दौर था जब एक शहर से दूसरे शहर में जाते वक्त ये पक्का नहीं रहता था कि उसी शहर पहुंचेंगे या बीच में किडनैप हो जाएंगे।”

उन्होंने भागलपुर में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए विरोधियों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि, “देश को तोड़ने की, देश को बांटने की वकालत करने वालों पर जब कड़ाई की जाती है तो ये लोग उनके साथ खड़े हो जाते हैं। उन्होंने राममंदिर निर्माण, धारा 370 हटाने का जिक्र करते हुए कहा कि देशहित के किसी भी फैसले का विरोध किया जाता है।”

उन्होंने इशारों ही इशारों पर कहा कि, “इन लोगों का मॉडल रहा है बिहार को बीमार और लाचार बनाना। पहले राशन हो, गैस सब्सिडी हो, पेंशन हो, स्कॉलरशिप हो, हर जगह घोटाला-घपला चलता था। अब आधार, फोन और जनधन खाते से सब जुड़ चुका है। अब गरीब को उसका पूरा हक समय पर मिलना सुनिश्चित हुआ है।”

मोदी ने लोगों से स्थानीय उत्पादों का प्रयोग करने की अपील करते हुए कहा कि, “त्योहारों का समय है। अधिक से अधिक ‘लोकल’ खरीदिए।”

उन्होंने कहा, “हमारी मिट्टी के हस्तशिल्पियों, दूसरे शिल्पियों के बनाए बर्तन, दीए, खिलौने जरूर खरीदिए। हम मिलकर कोशिश करेंगे तो बिहार भी आत्मनिर्भर होगा, भारत भी आत्मनिर्भर होगा।”

उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि बिहार आत्मर्भिरता के रास्ते पर निकल गया है, अब उसे पीछे नहीं लाना है।

सासाराम और भागलपुर की सभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी लोगांे को संबोधित किया।