Mirzapur 2 Review: गोलियों और गालियों का कॉम्पैक्ट पैकेज है दूसरा सीजन, यहां पढ़े शुरुआती दो एपिसोड का रिव्यू

0
4

Mirzapur के पहले सीजन को शायद ही ऐसी हो जिसने नहीं देखा होगा। वही 2 साल के लंबे इंतजार के बाद 22 अक्टूबर के दिन लोकप्रिय वेब सीरीज ‘मिर्जापुर’ के मेकर्स ने सीरीज का दूसरा सीजन रिलीज कर दिया। हमने भी इसके शुरुआती दो एपिसोड देखे हैं। धीरे-धीरे हम जैसे-जैसे एपिसोड खत्म करते जाएंगे, आपको रिव्यू देते जाएंगे। तब तक के लिए आप शुरुआती दो एपिसोड का रिव्यू पढ़िए।

पहले सीजन के आखिरी एपिसोड में घायल हुए गुड्डू पंडित (अली फजल), गोलू गुप्ता (श्वेता त्रिपाठी) और डिंपी पंडित (हर्षिता गौर) मिर्जापुर से कहीं दूर अपने घावों का इलाज करवाते हैं। तीनों का ही लक्ष्य कालीन भैया (पंकज त्रिपाठी) और मुन्ना भैया (दिव्येंदु शर्मा) से बदला लेना होता है।

इसी बीच रति शंकर शुक्ला (शुभ्रज्योति भारत) का बेटा शरद शुक्ला (अंजुम शर्मा) अपने दिवंगत पिता का बिजनेस चलाने, गुड्डू से अपने पिता की मौत का बदला लेने और मिर्जापुर की गद्दी छीनने के लिए वापस जौनपुर आता है। पहले दो एपिसोड्स में काफी कुछ देखने को मिलता है। इस दौरान विजय वर्मा की भी एंट्री होती है और पंकज त्रिपाठी के साथ इंस्पेक्टर राम शरण मौर्य (अमित सियाल) भी गठजोड़ कर लेता है। Also Read – मेकर्स ने फैंस को दिया बड़ा सरप्राइज, 3 घंटे पहले ही रिलीज कर दिया ‘मिर्जापुर’ का दूसरा सीजन

– क्या नया है?
सीजन 2 में भी राइटर पुनीत कृष्णा ने सीजन 1 की तरह ही गालियां, गोलियां और जमकर हिंसा परोसी है। यही मिर्जापुर को असली विनर बनाती है। इस सीजन को पहले सीजन की तरह ही लगातार रोमांचक बनाए रखना और नए आइडियाज के साथ आगे बढ़ना एक बड़ी जिम्मेदारी थी और पुनीत कृष्णा और उनकी टीम इसमें कामयाब रही है। सीजन के एक्टर्स और किरदारों के अलावा इस सीजन की बैक हैंड टीम यानी एडिटिंग, सिनेमैटोग्राफी, साउंड मिक्सिंग ने कमाल का काम किया है। Also Read – मिर्जापुर 2: मुन्ना त्रिपाठी की सांसें छीन लेंगे गुड्डू भैया, डिम्पी ने दर्शकों को बताया मिर्जापुर का भविष्य

– क्या नया नहीं है?
अभी हमने केवल दो एपिसोड देखे हैं तो हम केवल इतना कह सकते हैं कि सीजन के पहले दो एपिसोड पिछले सीजन की शुरुआत की तुलना में थोड़े फीके हैं। हालांकि इसका कारण एक ये भी है कि अगर आप पहले सीजन में लोगों की एक्सपेक्टेशन बढ़ा देते हैं तो दूसरे सीजन में आप पर उसे बनाए रखने का दवाब होता है। वहीं अचानक से एक कन्फ्यूजन भी पैदा होती है जब एसपी मौर्य कालीन भैया के समर्थन में आ जाता है।

बॉलीवुड लाइफ का निर्णय
मिर्जापुर- 2 के पास वो सारा मसाला है जो फैंस को चाहिए था। जिन चीजों के लिए फैंस को बेसब्री से इंतजार था, सीजन में वो सब मिला है। आगे हम जैसे-जैसे एपिसोड देखेंगे, आपको इसका सटीक पर्फेक्ट रिव्यू देंगे। फिलहाल के लिए मिर्जापुर-2 को हम 5 में से 4 रेटिंग देते हैं।