इस गांव की पूरी आबाद नहीं रहती जमीन पर, जानें कहां है बसेरा

0
5

धरती पर एक से एक खूबसूरत घर तो आपने बहुत देखे होंगे, लेकिन क्या आपने सुना है कि जमीन के अंदर पूरा का पूरा गांव बसा हो। जी हां जिस तरह दिल्ली का पालिका बाजार पूरा का पूरा अंडरग्राउंड बसा है, उसी तरह एक पूरा गांव भी ऐसा है जो धरती के अंदर बसा हुआ है।

कूबर पेड़ी नाम का यह गांव दक्षिण आॅस्ट्रेलिया में बसा है। यहां रहने वाले हर परिवार ने धरती के अंदर घर बना रखे हैं। दरअसल इस जगह में बहुत सी ओपल की खदाने हैं और लोग इन्हीं खदानों को घर की शक्ल देकर रहते हैं। बाहर से दिखने पर तो ये घर बहुत ही साधारण नजर आते हैं, लेकिन जब आप इनके अंदर जाएंगे तो पाएंगे कि यह किसी आलीशान होटल से कम नहीं हैं।

कूबर पेड़ी में 60 फीसदी लोग अंडरग्राउंड रहते हैं। कूबर पेड़ी ओपल कैपिटल आॅफ द वर्ल्ड के नाम से भी जाना जाता हैै। ओपल एक दूधिया रंग का कीमती पत्थर होता है। इस जगह विश्व की सबसे ज्यादा ओपल माइंस हैं। यहां ओपल की माइनिंग 1915 में शुरू हुई थी। कूबर पेड़ी डेजर्ट एरिया है और यहां गर्मियों में तापमान बहुत ज्यादा और सर्दियों में बहुत कम हो जाता है।

इसके कारण यहां रहने वाले लोगों को बहुत तकलीफ़ को सामना करना पड़ता था। इसका यह हल निकाला गया कि लोगों को माइनिंग के बाद खाली बची खदानों में शिफ्ट कर दिया गया।

यहां ना तो गर्मियों में एसी की जरूरत होती है और ना ही सर्दियों में हीटर की। इस समय यहां तकरीबन 1500 घर हैं। जमीन के नीचे ये घर हर सुख सुविधा से लेस हैं। यहां कई हॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है। पिच ब्लैक फिल्म की शूटिंग के बाद प्रोडक्शन ने फिल्म का स्पेसशिप यहीं छोड़ दिया था। अब यह पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बन चुका है।