भारतीय नौसेना की ताकत बढी, बेड़े में शामिल जंगी जहाज INS कवरत्ती!

0
6

आईएनएस कवरत्ती की लंबाई 109 मीटर और चौड़ाई 12.8 मीटर है, ये अत्याधुनिक हथियारों, रॉकेट लॉचर्स, एकीकृत हेलीकॉप्टर्स और सेंसर से लैस है।

New Delhi, Oct 22 : मेड इन इंडिया आईएनएस कवरत्ती पोत को भारतीय नौसेना के संगठन डायरेक्टॉरेट ऑफ नेवल डिजाइन (डीएनडी) ने डिजाइन किया है, भारत के इस जंगी जहाज की खास बात ये है कि ये रडार की पकड़ में नहीं आता है। इस युद्धपोत को आत्मनिर्भर भारत की दिशा में एक अहम कदम माना जा रहा है, आईएनएस कवरत्ती का 90 फीसदी हिस्सा स्वदेश निर्मित  है औऐर नई तकनीक की मदद से इसकी देखरेख की जरुरत भी कम होगी।

अत्याधुनिक हथियार
न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक आईएनएस कवरत्ती में अत्याधुनिक हथियार प्रणाली है, इसमें खास सेंसर लगे हुए हैं, जो पनडुब्बियों का पता लगाने और उनका पीछा करने में सक्षम है, ये प्रोजेक्ट -28 के तहत स्वदेश में निर्मित 4 पनडुब्बी रोधी जंगी स्टील्थ पोत में से आखिरी जहाज है।

लंबाई चौड़ाई
आईएनएस कवरत्ती की लंबाई 109 मीटर और चौड़ाई 12.8 मीटर है, ये अत्याधुनिक हथियारों, रॉकेट लॉचर्स, एकीकृत हेलीकॉप्टर्स और सेंसर से लैस है। ये पोत परमाणु, रसायनिक तथा जैविक युद्ध की स्थिति में भी काम करेगा, इससे सेना की ताकत बढेगी।

युद्ध में बड़ी भूमिका
आईएनएस कवरत्ती का नाम युद्धपोत आईएनएस कवरत्ती के नाम पर पड़ा है, इस युद्धपोत ने साल 1971 में पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध और बांग्लादेश को मुक्ति दिलाने वाले अभियान में बड़ी भूमिका निभाई थी। माना जा रहा है कि इससे भारतीय नौसेना और ताकतवर होगी।