मुमताज से शम्मी कपूर की शादी होते-होते रह गई थी, जानें क्यों?

0
29




शम्मी कपूर बॉलीवुड का एक जाना माना नाम है,उन्होंने एक से बढ़कर एक फिल्मे की,और लोगो के दिलो दिमाग में अपनी ऐसी छवि बनाइ जिसको मिटाना या भूलना संभव नहीं. शम्मी कपूर अपनी एक्टिंग और स्टाइल के लिए काफी फेमस थे. शम्मी कपूर को अभिनय की कला अपने परिवार से विरासत में मिली उनके पिता पृथ्वीराज कपूर जाने माने अभिनेता थे. साल 1953 में आई फिल्म ‘जीवन ज्योति’ से बतौर अभिनेता शम्मी कपूर ने बॉलीवुड में कदम रखा था ।

अभिनेता रहे शम्मी कपूर की 21 अक्टूबर को बर्थ एनिवर्सिरी है. 21 अक्टूबर 1931 को मुंबई में जन्में शम्मी कपूर ने हिंदी सिनेमाजगत में अपना जेवण समर्पित किया है । शम्मी कपूर के जीवन में कई उतर चढ़ाव आये,पर वो हमेशा मज़बूत रहे,एक अभिनेता होने के नाते शम्मी कपूर की निजी ज़िन्दगी हमेशा सुर्खियों में रही, शम्मी कपूर ने पहली शादी एक्ट्रेस गीता बाली से की थी, लेकिन महज 34 साल की उम्र में बीमारी के कारण उनका निधन हो गया.

शम्मी कपूर के लिए ये एक बड़ा सदमा था,पत्नी की जाने से शम्मी कपूर टूट गए और उनके करियर का ग्राफ भी नीचे जाने लगा,पर कहते है ना धीरे धीरे हर ज़ख्म भर जाता है,और इंसान को जीवन में आगे बढ़ना पढता है,उस समय शम्मी कपूर और मुमताज़ की जोड़ी और दोनों के साथ किये गाने लोगो को बहुत पसंद आते थे,शम्मी कपूर भी मुमताज़ को चाहने लगे थे,और वो उन शादी करना चाहते थे,लेकिन मुमताज अपना फिल्मी करियर छोड़ना नहीं चाहती थीं,और शम्मी कपूर की ये इच्छा पूरी नहीं हो सकी,

इसके बाद शम्मी कपूर ने नीला देवी से शादी की.शम्मी कपूर ने अपनी फिल्मी करियर में 50 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है. उन्होंने ‘जंगली’, ‘तुमसा नहीं देखा’, ‘दिल देके देखो’, ‘सिंगापुर’, ‘कॉलेज गर्ल’, ‘प्रोफेसर’, ‘चाइना टाउन’, ‘प्यार किया तो डरना क्या’, ‘कश्मीर की कली’, ‘जानवर, ‘तीसरी मंजिल’, ‘अंदाज’, ‘एन इवनिंग इन पेरिस’, ‘ब्रह्मचारी’ जैसे एवरग्रीन फिल्मों में दमदार अभिनय से शम्मी कपूर ने बॉलीवुड पर कभी ना मिटने वाली पहचान छोड़ दी ।