दिवाली से पहले इन कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, बंटेगा 3737 करोड़ रु का बोनस

0
11

नयी दिल्ली। दिवाली (Diwali 2020) से पहले केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी आई है। यूनियन कैबिनेट ने बुधवार को केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए 3,737 करोड़ रु के बोनस को मंजूरी दे दी है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि इस बोनस से 30 लाख नॉन-गैजेटेड कर्मचारियों को फायदा होगा। इनमें वे कर्मचारी भी शामिल है जो स्वायत्त केंद्रीय संगठन में काम करते हैं। जावड़ेकर ने कहा कि यूनियन कैबिनेट ने 2019-2020 के लिए प्रोडक्टिविटी लिंक्ड बोनस और नॉन-प्रोडक्टिविटी लिंक्ड बोनस को मंजूरी दे दी। उनके मुताबिक 30 लाख से अधिक नॉन-गैजेटेड कर्मचारियों में 3737 करोड़ रु का बोनस बांटा जाएगा।

एक बार में मिलेगा बोनस का पैसा
केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने कहा कि विजयदशमी से पहले डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर के जरिए बोनस का पैसा एक ही किस्त में दिया जाएगा। इससे मध्यम वर्ग को खर्च करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा और इस तरह अर्थव्यवस्था में मांग बढ़ेगी। बता दें कि अर्थव्यवस्था में मांग बढ़ाने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 12 अक्टूबर को त्योहारी सीजन से पहले 73,000 करोड़ रुपये की विशेष योजनाओं का ऐलान किया था। इनमें एलटीसी कैश वाउचर स्कीम और केंद्र सरकार और सार्वजनिक क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए स्पेशल फेस्टिवल एडवांस स्कीम शामिल है।

किस तरह बंटेगा बोनस
लाभार्थियों में रेलवे, डाकघर, ईपीएफओ, ईएसआईसी और प्रोडक्शन जैसे सरकारी व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के 17 लाख नॉन-गैजेटेड कर्मचारी शामिल हैं। इनका हिस्सा 2,791 करोड़ रुपये का होगा। बाकी 13 लाख सरकारी कर्मचारियों को 946 करोड़ रुपये का नॉन-प्रोडक्टिविटी लिंक बोनस मिलेगा। उल्लेखनीय है कि दुर्गा पूजा से पहले प्रोडक्टिविटी-लिंक्ड बोनस जारी करने की मांग पूरी न होने पर रेलवे के दो प्रमुख कर्मचारी संघों ने रेल की आवाजाही रोकने की चेतावनी दी थी। यूनियन ने कहा था कि सरकार को इस साल की महामारी का हवाला देते हुए 2019-20 का बोनस नहीं रोकना चाहिए। इस घोषणा ने सरकारी कर्मचारियों के बीच बोनस को लेकर बनी अनिश्चितता को खत्म कर दिया है। कोरोना के कारण बोनस पर अनिश्चितता थी।