टैक्स भरते समय हो गई है गड़बड़ तो लें टेंशन, ऐसे कैसे करें रिवाइज्ड इनकम टैक्स रिटर्न

0
6

नई दिल्ली. क्या आपने इनकम टैक्स रिटर्न करते समय कोई गलती कर दी है। आपने भी जल्दी-जल्दी में गलत टैक्स दिखा दिया है। अगर ऐसा कुछ भी हुआ है तो आप बिल्कुल भी टेंशन न लें क्योंकि अब इनकम टैक्स डिपार्टमेंट आपको रिटर्न भरते समय हुई गलती को सुधारने का मौका देता है। तो अब बिना किसी परेशानी के अपनी गलती को सुधार सकते हैं। इसके लिए बस आपको रिवाइज्ड रिटर्न (Revised Income Tax Return) भरना होगा और आपकी गलती मिनटों में सुधर जाएगी।

आप को बता दें रिवाइज्ड रिटर्न बिल्कुल ठीक उसी तरह है जैसे कि ओरिजिनल इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) भरते हैं। आइए इन्हें 10 स्टेप्स में जानते हैं..

जानिए क्या है रिवाइज्ड इनकम टैक्स रिटर्न

रिवाइज्ड रिटर्न भी ओरिजिनल आईटीआर की फाइलिंग की तरह ही है। इसमें अन्य सभी विकल्पों के अलावा सिर्फ एक विकल्प अतिरिक्त होता है। जिसमें यह होता कि आपको ओरिजिनल आईटीआर भरने में हुई चूक को रिवाइज्ड आईटीआर में भरना पड़ता है। इस प्रक्रिया को रिवाइज्ड इनकम टैक्स रिटर्न कहा जाता है।

कैसे भरते हैं रिवाइज्ड रिटर्न

  • सबसे पहले टैक्सपेयर इनकम टैक्स के ई-फाइलिंग पोर्टल पर लॉग इन करे।
  • पासवर्ड, पैन नंबर और कैप्चा कोड के साथ आप ई-फाइलिंग पर लॉग इन करेंगे।
  • इसके बाद आप ई-फाइल पर क्लि करें और फिर इनकम टैक्स रिटर्न के लिंक पर क्लिक करें।
  • इस प्रक्रिया में आपका पैन नंबर इनकम टैक्स रिटर्न के पेज पर आ जाएगा।
  • अब आईटीआर फॉर्म और असेस्मेंट ईयर पर क्लिक करें।
  • ‘फाइलिंग टाइप’ में रिवाइज्ड रिटर्न पर क्लिक करें।
  • फिर आपको सबनिशन मोड में प्रीपेयर एंड सब्मिट ऑनलाइन पर क्लिक करना होगा।
  • ‘जनरल इन्फॉर्मेशन’ में ऑनलाइन आईटीआर फॉर्म में ‘रिटर्न फाइलिंग सेक्शन’ में रिवाइज्ड रिटर्न (सेक्शन 139(5) और ‘रिटर्न फाइलिंग टाइप’ में ‘रिवाइज्ड’ विकल्प को चुनें।
  • अब ओरिजिनल ITR में दर्ज ‘एक्नॉलेजमेंट नंबर’ और ITR फाइन करने की तारीख चुनें।

करदाताओं को इस बात की जानकारी होना जरूरी है कि रिवाइज्ड रिटर्न एसेसमेंट ईयर की अवधि खत्म होने से पहले ही इसको भरा जाने का प्रावधान है।