नवरात्रि में ये उपाय करने से प्रसन्न होती है स्कन्दमाता, मनचाही मनोकामना करती है पूरी

0
15




नवरात्रि का सीजन चल रहा है और हिन्दुओ के लिए इससे पावन समय और कुछ है भी नही. कही न कही ये त्यौहार ही है जो सबसे पावन समय पूरे वर्ष में माना जाता है और कहा जाता है कि अगर नौ दिनों में से एक दिन का भी पुण्य आपको मिल जाये तो आपके भाग खुल जाते है. ऐसे में आज क्योंकि नवरात्रि का पांचवा दिन है तो आज स्कन्द माता का दिन है जिनको प्रसन्न करना यानी जीवन में हर सुख की प्राप्ति कर लेने जैसा है.

स्कन्दमाता ही भगवान् कार्तिककेय की माँ है जिन्होंने तारकासुर को समाप्त किया था और इस वजह से कहा जाता है कि अगर आपको स्कन्द माता को प्रसन्न करना है तो पहले अपनी माता को प्रसन्न करना होगा. नवरात्रि के पाँचवे दिन अपनी माँ का पूजन भी जरुर करे.

इसके बाद में स्कन्द माता को प्रसन्न करने के लिए दुर्गाशतनाम का पाठ सुबह सुबह करे, फिर घर में तुलसी का पौधा लगाये और इसके बाद में भगवान् शंकर को जल चढ़ाए. कभी भी स्कन्द माता की पूजा एकल न करे. माँ और शंकर भगवान् की पूजा एक साथ करे और अगर आप विवाहित है तो जोड़े में बैठकर के ही उनकी पूजा करे. ऐसा करने से आप उनके विशेष कृपा के भागी हो जाते है और आप जो भी चाहते है उनकी प्राप्ति आपको समय के साथ में हो जाती है और जीवन में आपको काफी उज्जवल भविष्य की प्राप्ति होती है.

हाँ मगर एक चीज का और ध्यान रखा जाना जरूरी है कि आप कभी भी मन में नास्तिकता लेकर के पूजा न करे. अगर आप पूजन कर रहे है तो सारा खेल श्रद्धा का है. आपकी श्रद्धा माँ के प्रति जितनी अधिक गहरी होगी आप जीवन में उतना ही अधिक और उतने ही बड़े स्तर पर कृपा को प्राप्त कर सकेंगे.